Create

किडनी और लिवर को स्वस्थ रखने के 5 घरेलू नुस्खे - Kidney Aur Liver Ko Swasth Rakhne Ke 5 Gharelu Nuskhe

किडनी और लिवर को स्वस्थ रखने के 5 घरेलू नुस्खे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
किडनी और लिवर को स्वस्थ रखने के 5 घरेलू नुस्खे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

किडनी (kidney) और लिवर (liver) की समस्या को पहचानने के लिए आपको कुछ लक्षणों को पहचानना होता है, जिसमें पेशाब में जलन या दर्द आम है। यह किडनी या लिवर के बिगड़े हुए स्वास्थ्य का संकेत हो सकता है। किडनी के स्वास्थ्य में किसी तरह की गड़बड़ी होने पर UTI यानी मूत्र पथ के संक्रमण, गुर्दे में पथरी या गुर्दे से जुड़ी कोई बीमारी हो सकती है। इनके कारण कई और बड़ी समस्याएं भी बन सकती हैं। इस लेख में हम आपको किडनी और लिवर को स्वस्थ रखने के लिए घरेलू नुस्खे बताने जा रहे हैं।

किडनी और लिवर को स्वस्थ रखने के 5 घरेलू नुस्खे - Kidney Aur Liver Ko Swasth Rakhne Ke 5 Gharelu Nuskhe In Hindi

त्रिफला (Triphala)

त्रिफला एक ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का संयोजन है, जो आपके वजन को घटाने के साथ किडनी के नेचुरल फंक्शन में सुधार करती है। त्रिफला के सेवन से किडनी और लिवर को मजबूती मिलती है। इसका सेवन शरीर के उत्सर्जन संबंधी कामों को प्रबंधन करने में मदद करता है।

धनिया (Coriander)

भारतीय रसोई में मसालों के तौर पर इस्तेमाल में लाई जाने वाली धनिया किडनी और लिवर से जुड़ी समस्याओं के लिए बहुत प्रभावी है। गुर्दे और मूत्राशय के कामों को नियमित करने में धनिया मददगार है।

अदरक (Ginger)

लिवर और किडनी की सफाई में अदरक बहुत ही मददगार है। इसके सेवन से लिवर और किडनी डिटॉक्स हो जाते हैं। इसमें मौजूद एंटी इंफ्लामेटरी गुण किडनी के दर्द और सूजन को कम करते हैं और UTI इंफेक्शन की समस्या से बचाते हैं।

संतुलित आहार (Balanced Diet)

आपकी आहार योजना अच्छी रहनी चाहिए। आपका आहार प्रोटीन्स, कार्बोहाइड्रेट्स, फैट्स, मिनरल और विटामिन से संतुलित होना चाहिए। प्रत्येक भोजन में प्रोटीन का उचित अनुपात होना चाहिए, खास करके वेजीटेरियन प्रोटीन्स। आपको नमक कम मात्रा में लेना चाहिए, क्योंकि नमक पेट में पानी का स्तर बढ़ा सकता है और पैर में सूजन पैदा कर सकता है। लीवर व किडनी के रोगियों को प्रतिदिन 2 ग्राम नमक खाने की अनुमति होती है।

एक्सरसाइज (Exercise)

पेट में पानी की संतृप्ति के कारण फेफड़ों का निचला हिस्सा ठीक से नहीं खुल पाता है, इसलिए हमें ब्रीथिंग एक्सरसाइज करनी चाहिए। इसमें आप आसान ब्रीथिंग एक्सरसाइजेज भी कर सकते हैं या स्पिरोमेटेर (Spirometer) – फेफड़ों के व्यायाम के लिए उपयोग किया जाता है। इसके आलावा शरीर को स्वस्थ रखने के लिए भी थोड़ा व्यायाम करना जरुरी है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...