यहाँ पढ़ें: छात्रों के लिए 5 मन को फ्रेश करने वाले व्यायाम!

5 Mind-Refreshing Exercises For Students!
यहाँ पढ़ें: छात्रों के लिए 5 मन को फ्रेश करने वाले व्यायाम!

अकसर बच्चे पढ़ते-पढ़ते मानसिक रूप से दबाव या असहज महसूस करने लगते हैं जिसका छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है। फोकस बढ़ाने, तनाव कम करने और समग्र संज्ञानात्मक कार्य को बढ़ावा देने के लिए दिमाग को तरोताजा करने वाले व्यायामों को अपनी दिनचर्या में शामिल करना आवश्यक है। इसलिए कुछ आसान लेकिन प्रभावी अभ्यास आज हम आपको बता रहे हैं जिन्हें छात्र अपने दिमाग को तेज और तरोताजा रखने के लिए अपने दैनिक जीवन में शामिल कर सकते हैं।

निम्नलिखित इन 5 माइंड को फ्रेश करने वाले व्यायाम के बारे में यहाँ जाने:

1. सचेतन श्वास:

प्रत्येक दिन कुछ क्षण ध्यानपूर्वक साँस लेने का अभ्यास करने के लिए निकालें। एक शांत जगह ढूंढें, आराम से बैठें और अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करें। गहरी सांस लें, कुछ सेकंड के लिए रोकें और धीरे-धीरे सांस छोड़ें। इस प्रक्रिया को कुछ मिनट तक दोहराएँ। सचेतन साँस लेने से तंत्रिका तंत्र को शांत करने में मदद मिलती है, तनाव कम होता है और एकाग्रता में सुधार होता है।

साँस लेने का अभ्यास!
साँस लेने का अभ्यास!

2. त्वरित स्ट्रेचिंग ब्रेक:

लंबे अध्ययन सत्र आपके शरीर को तनावग्रस्त और आपके दिमाग को थका हुआ बना सकते हैं। तनाव दूर करने और रक्त प्रवाह को बढ़ावा देने के लिए त्वरित स्ट्रेचिंग ब्रेक शामिल करें। नेक रोल, शोल्डर स्ट्रेच और सीटिंग ट्विस्ट जैसे सरल स्ट्रेच कुछ ही मिनटों में किए जा सकते हैं। ये व्यायाम न केवल आपके दिमाग को तरोताजा करते हैं बल्कि मुद्रा में भी सुधार करते हैं और शारीरिक परेशानी को कम करते हैं।

3. दिमाग तेज करने वाले खेल:

संज्ञानात्मक कार्य को प्रोत्साहित करने के लिए छोटे मस्तिष्क-वर्धक खेलों में संलग्न रहें। पहेली खेल, वर्ग पहेली और सुडोकू उत्कृष्ट विकल्प हैं। ये गतिविधियाँ आपके मस्तिष्क को चुनौती देती हैं, समस्या-समाधान कौशल में सुधार करती हैं, और शैक्षणिक कार्यों से एक मजेदार ब्रेक प्रदान करती हैं। अपने दिमाग को तेज़ और सक्रिय रखने के लिए अध्ययन अवकाश के दौरान एक संक्षिप्त खेल सत्र का लक्ष्य रखें।

4. प्रकृति की सैर:

प्रकृति में समय बिताना मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित हुआ है। किताबों से ब्रेक लें और थोड़ी देर प्रकृति की सैर पर जाएँ। चाहे वह पार्क में टहलना हो या अपने परिसर में घूमना हो, बाहर रहना आपके दिमाग को तरोताजा कर सकता है और तनाव को कम कर सकता है। अपनी इंद्रियों को पूरी तरह से व्यस्त रखने के लिए अपने आस-पास के दृश्यों, ध्वनियों और गंधों पर ध्यान दें।

youtube-cover

5. विज़ुअलाइज़ेशन और सकारात्मक पुष्टि:

अपनी आँखें बंद करें और एक क्षण रुककर उस स्थान की कल्पना करें जो आपको खुशी और शांति प्रदान करता है। यह कोई समुद्र तट, जंगल या कोई पसंदीदा स्थान हो सकता है। इसे सकारात्मक पुष्टिओं के साथ जोड़ें, जैसे "मैं सक्षम हूं," "मैं चुनौतियों का सामना कर सकता हूं," या "मैं केंद्रित और दृढ़ हूं।" विज़ुअलाइज़ेशन और सकारात्मक पुष्टि आपकी मानसिकता को बदल सकती है, चिंता को कम कर सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by वैशाली शर्मा