Create

मियादी बुखार के 5 लक्षण: Miyadi Bukhaar Ke 5 Lakshan 

फोटो: Lybrate
फोटो: Lybrate

टाइफाइड (Typhoid) को मियादी बुखार भी कहा जाता है। बदलते मौसम में ये बीमारी बड़े आराम से किसी को भी हो सकती है। अगर आपको भी कोई ऐसे लक्षण लग रहे हैं जिसमें बुखार आता है और फिर चला जाता है लेकिन समय के साथ वो फिर वापस आता है, जुखाम है, और शरीर में दर्द भी है तो ये टाइफाइड हो सकता है।

ऐसा नहीं है कि आपको इसके लक्षण आसानी से समझ में आएँगे क्योंकि बदलते मौसम में बुखार होना या बीमार पड़ना एक आम बात है और जिन लोगों की इम्यूनिटी कमजोर होती है उनके साथ ये परेशानी अमूमन पेश आती है। आइए आपको उन लक्षणों के बारे में बताते हैं जिनसे आप इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि आपको टाइफाइड है।

मियादी बुखार के 5 लक्षण: Miyadi Bukhaar Ke 5 Lakshan

बुखार: Fever

बुखार एक बेहद आम बात है। किसी भी बीमारी के दौरान बुखार आता ही है। अगर आप उन लोगों में से हैं जो इस बुखार से ही खुद को टाइफाइड का मरीज घोषित कर देते हैं तो ऐसा नहीं है। आप किसी भी बीमारी को सिर्फ एक लक्षण से सच होता हुआ नहीं मान सकते हैं। ये एक सही बात नहीं होगी।

दस्त: Loose motion

दस्त भी हर समय नहीं होता है। ऐसे में अगर आपको बुखार के साथ साथ दस्त भी लग गए हैं तो ये इस बात की निशानी है कि आप दस्त से ग्रसित हैं और आप टाइफाइड के मरीज हो सकते हैं। अगर आप अन्य परेशानियों को भी महसूस करते हैं तो ही विचलित हों वरना बदलते मौसम में लोग बीमार होते ही हैं।

कब्ज: Constipation

कब्ज होना कोई अच्छी बात नहीं है। इसकी वजह से इंसान पेट में परेशानी महसूस करता है। इसकी वजह से दिक्कतें बढ़ जाती हैं लेकिन लोग फिर भी कब्ज का इलाज नहीं करवाते हैं। अगर उपरोक्त चीजों के साथ साथ आपको ये परेशानी भी हो रही हो तो आप ये मान सकते हैं कि आपको टाइफाइड है।

चकत्ते: Rashes

चकत्ते पड़ना एक ऐसा लक्षण है जिसे हर किसी में नहीं देखा जाता है। ऐसे कई लोग हैं जिन्हें ये लक्षण महसूस होता है लेकिन ये सबके लिए जरूरी नहीं है। वैसे अगर ऊपर बताए गए लक्षणों के साथ साथ ये लक्षण भी हो तो एक और पुष्टि हो जाती है कि आपको टाइफाइड है। आप इसका इलाज आराम से कर सकते हैं।

बिना भूख के वजन घटना: Weight loss with loss of appetite

ऐसे कई लोग होते हैं जो आठ रोटियों के साथ चावल का एक बड़ा हिस्सा खाते हैं। अगर ऐसी डाइट वाले लोगों को भूख ना लगे और उनका वजन भी कम होने लगे तो ये इस बात का स्पष्ट संकेत है कि आपके शरीर में कोई ऐसा कीटाणु है जो आपको परेशानी में ड़ाल रहा है और जो वापस भी आ सकता है। सुरक्षित रहें, सतर्क रहें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment