उबला हुआ दूध पीने के 7 फायदे और नुकसान

उबला हुआ दूध पीने के 7 फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
उबला हुआ दूध पीने के 7 फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

उबला हुआ दूध (steamed/boiled milk) पीने के फायदे और नुकसान दोनों हैं, और अपने दूध की खपत के बारे में जानकारीपूर्ण विकल्प चुनने के लिए दोनों पहलुओं पर विचार करना आवश्यक है। यहां प्रत्येक पक्ष के लिए कुछ मुख्य तथ्य दिए गए हैं:-

उबला हुआ दूध पीने के 7 फायदे और नुकसान (7 Advantages and disadvantages of drinking boiled milk in hindi)

youtube-cover

उबला हुआ दूध पीने के फायदे:-

हानिकारक बैक्टीरिया को मारता है: दूध उबालने से कच्चे दूध में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया और रोगजनकों को मारने में मदद मिलती है, जिससे इसका सेवन करना सुरक्षित हो जाता है।

विस्तारित शेल्फ लाइफ: उबले हुए दूध की शेल्फ लाइफ कच्चे दूध की तुलना में लंबी होती है, जो अधिक जल्दी खराब हो सकता है।

बेहतर स्वाद और सुगंध: कई लोगों का मानना है कि दूध उबालने से इसका स्वाद और सुगंध बढ़ जाती है, जिससे इसे पीने में अधिक आनंद आता है।

पचाने में आसान: कुछ व्यक्तियों के लिए उबला हुआ दूध पचाना आसान होता है, क्योंकि गर्म करने की प्रक्रिया कुछ प्रोटीन और वसा को तोड़ सकती है।

पोषक तत्वों को बनाए रखना: दूध उबालने से हानिकारक सूक्ष्मजीवों को नष्ट करते हुए कैल्शियम और विटामिन जैसे आवश्यक पोषक तत्वों को बनाए रखने में मदद मिल सकती है।

कम लैक्टोज सामग्री: दूध उबालने से इसकी लैक्टोज सामग्री कम हो सकती है, जिससे यह लैक्टोज असहिष्णुता वाले व्यक्तियों के लिए उपयुक्त हो जाता है।

आरामदायक और सुखदायक: गर्म उबला हुआ दूध अक्सर सुखदायक माना जाता है और बेहतर नींद को बढ़ावा देने के लिए आमतौर पर सोने से पहले इसका सेवन किया जाता है।

youtube-cover

उबला हुआ दूध पीने के नुकसान:-

पोषक तत्वों की हानि: लंबे समय तक उबालने से विटामिन बी और सी जैसे कुछ गर्मी-संवेदनशील पोषक तत्वों की हानि हो सकती है, जिससे संभावित रूप से दूध के समग्र पोषण मूल्य में कमी आ सकती है।

स्वाद और बनावट में बदलाव: लंबे समय तक उबालने से दूध का स्वाद और बनावट बदल सकता है, जिससे यह कुछ लोगों के लिए कम आकर्षक हो जाता है।

ऊर्जा की खपत: दूध उबालने से ऊर्जा की खपत होती है और उन क्षेत्रों में जहां बिजली या ईंधन महंगा है, यह नुकसानदेह हो सकता है।

समय लेने वाला: दूध उबालने की प्रक्रिया में समय लग सकता है, खासकर यदि आपको इसे पीने से पहले इसके ठंडा होने तक इंतजार करना पड़े।

जलने का खतरा: दूध को अधिक उबालने से दूध झुलस सकता है, जिससे न केवल स्वाद बदल जाता है, बल्कि संभावित हानिकारक यौगिकों का निर्माण भी होता है।

कम हुई एंजाइम गतिविधि: दूध उबालने से पाचन में सहायता करने वाले एंजाइमों की गतिविधि कम हो सकती है, जिससे संभवतः कुछ व्यक्तियों के लिए इसे पचाना कठिन हो जाता है।

कुछ उपयोगों के लिए असुविधाजनक: उबला हुआ दूध कुछ पाक अनुप्रयोगों के लिए उपयुक्त नहीं हो सकता है, जैसे कि कुछ मिठाइयाँ या पनीर बनाना, जिनमें कच्चे या न्यूनतम प्रसंस्कृत दूध के उपयोग की आवश्यकता होती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar