अंकुरित सोयाबीन खाने के ये 7 आश्चर्यजनक तथ्य

अंकुरित सोयाबीन खाने के ये 7 आश्चर्यजनक तथ्य (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
अंकुरित सोयाबीन खाने के ये 7 आश्चर्यजनक तथ्य (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

सोयाबीन (Soybean) शाकाहारियों और मांसाहारियों के लिए समान रूप से प्रोटीन और अन्य पोषक तत्वों का एक लोकप्रिय स्रोत है। हालांकि, अंकुरित सोयाबीन अपने बिना अंकुरित समकक्षों की तुलना में अधिक पौष्टिक होते हैं। यहाँ अंकुरित सोयाबीन खाने के बारे में कुछ आश्चर्यजनक तथ्य दिए गए हैं।

youtube-cover

अंकुरित सोयाबीन खाने के ये 7 आश्चर्यजनक तथ्य (7 Amazing Facts About Eating Sprouted Soybeans In Hindi)

1. पोषक तत्वों की मात्रा में वृद्धि (Increased Nutrient Content): सोयाबीन को अंकुरित करने से उनमें पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है। अंकुरण प्रक्रिया जटिल कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन को अधिक आसानी से पचने योग्य रूपों में तोड़ देती है, जिससे सोयाबीन में पोषक तत्व शरीर को अधिक उपलब्ध हो जाते हैं।

2. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर (Rich in Antioxidants): अंकुरित सोयाबीन एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं, जो शरीर को फ्री रेडिकल्स से होने वाले सेल्यूलर डैमेज से बचाने में मदद कर सकते हैं। एंटीऑक्सिडेंट कैंसर और हृदय रोग जैसी पुरानी बीमारियों के कम जोखिम से जुड़े हैं।

3. हाई इन प्रोटीन (High in Protein): सोयाबीन एक संपूर्ण प्रोटीन है, जिसका अर्थ है कि इनमें शरीर के लिए आवश्यक सभी आवश्यक अमीनो एसिड होते हैं। अंकुरित सोयाबीन में बिना अंकुरित सोयाबीन की तुलना में अधिक प्रोटीन सामग्री होती है, जिससे वे पौधे-आधारित प्रोटीन का एक उत्कृष्ट स्रोत बन जाते हैं।

4. बेहतर पाचन (Improved Digestion): अंकुरण प्रक्रिया सोयाबीन में पोषक तत्वों की जैव उपलब्धता को बढ़ाती है और उन्हें पचाने में आसान बनाती है। यह पाचन संबंधी समस्याओं जैसे सूजन, गैस और कब्ज को कम करने में मदद कर सकता है।

5. हृदय रोग का कम जोखिम (Lowered Risk of Heart Disease): अंकुरित सोयाबीन की उच्च प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट सामग्री हृदय रोग के कम जोखिम से जुड़ी हुई है। सोयाबीन में आइसोफ्लेवोन्स नामक यौगिक होते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और शरीर में सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

6. बढ़ा हुआ खनिज अवशोषण (Increased Mineral Absorption): अंकुरित सोयाबीन में फाइटिक एसिड होता है, एक यौगिक जो शरीर में खनिज अवशोषण में हस्तक्षेप कर सकता है। हालाँकि, अंकुरण प्रक्रिया फाइटिक एसिड को तोड़ देती है, जिससे सोयाबीन में खनिज शरीर को अधिक उपलब्ध हो जाते हैं।

7. बेहतर ब्लड शुगर नियंत्रण (Improved Blood Sugar Control): अंकुरित सोयाबीन मधुमेह वाले लोगों में रक्त शर्करा नियंत्रण में सुधार करने में मदद कर सकता है। सोयाबीन में यौगिक होते हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं, जिससे उन्हें मधुमेह के अनुकूल आहार में शामिल किया जा सकता है।

अंत में, अंकुरित सोयाबीन अत्यधिक पौष्टिक भोजन है जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। वे प्रोटीन, एंटीऑक्सिडेंट और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो हृदय रोग और कैंसर जैसी पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, अंकुरण प्रक्रिया सोयाबीन को पचाने में आसान बनाती है और पोषक तत्वों की जैवउपलब्धता को बढ़ाती है, जिससे वे स्वस्थ आहार के लिए एक उत्कृष्ट अतिरिक्त बन जाते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

App download animated image Get the free App now