Create

शहतूत खाने से मिल सकते हैं यह 7 फायदे - Benefits Of Eating Mulberry

शहतूत खाने से मिल सकते हैं यह 7 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
शहतूत खाने से मिल सकते हैं यह 7 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

शहतूत (Mulberry) के स्वास्थ्य लाभों में पाचन में सुधार, कम कोलेस्ट्रॉल, वजन घटाने में सहायता, परिसंचरण में वृद्धि, हड्डियों के ऊतकों का निर्माण और इम्युनिटी को बढ़ावा देने की उनकी क्षमता शामिल हो सकती है। यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने, ब्लड प्रेशर को कम करने, आंखों की रक्षा करने और संभवतः शरीर के समग्र मेटाबोलिज्म में सुधार करने में भी मदद कर सकता है। यह लेख शहतूत के फायदों को केंद्रित करता है।

शहतूत खाने से मिल सकते हैं यह 7 फायदे - Benefits Of Eating Mulberry In Hindi

1. किडनी के लिए अच्छा (Good for kidney)

आपके शरीर से अपशिष्ट और अतिरिक्त तरल पदार्थ को कुशलतापूर्वक निकालने के लिए आपकी किडनी का स्वास्थ्य आवश्यक है। शहतूत आपके शरीर की कोशिकाओं द्वारा उत्पादित एसिड को अधिक मात्रा में खत्म करने में मददगार है। मधुमेह के कारण किडनी की क्षति से पीड़ित लोगों के लिए शहतूत का अर्क फायदेमंद होता है। यह मेटाबोलिज्म संबंधी विकारों के कारण होता है और मधुमेह अपवृक्कता (diabetic nephropathy) के रूप में जाना जाता है। शहतूत का अर्क इंसुलिन प्रतिरोध और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को बेहतर बनाने और शरीर में सूजन को कम करने में मदद करता है।

2. बालों को स्वस्थ बनाता है (Makes hair healthy)

मेलेनिन (Melanin) एक प्राकृतिक पिग्मेंट है जो बालों का रंग निर्धारित करता है। जब मेलेनिन का उत्पादन धीमा हो जाता है तो आपके बाल भूरे या सफेद हो जाते हैं। शहतूत मेलेनिन के उत्पादन में सहायता करता है। यह आपके बालों के प्राकृतिक रंग को बरकरार रखता है। तो, समय से पहले बालों के सफेद होने से पीड़ित व्यक्ति को इससे लाभ होता है। अगर आप स्वस्थ बाल चाहते हैं तो आपको नियमित रूप से शहतूत का जूस पीना चाहिए। बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए, आप सीधे अपने बालों में शहतूत का रस लगा सकते हैं।

3. त्वचा को चमकदार बनाए (Makes your skin bright)

शहतूत का अर्क पिगमेंटेशन (pigmentation) का इलाज करके आपकी त्वचा को चमकदार बनाता है। यह त्वचा की टोन को भी बाहर करता है और काले धब्बे को कम करता है। शहतूत में पाया जाने वाला रेस्वेराट्रोल (resveratrol) त्वचा को UV किरणों के हानिकारक प्रभावों से बचाता है और एंटीऑक्सीडेंट बेहतरीन एंटी-एजिंग एजेंट हैं। उनमें से, बीटा-कैरोटीन मुक्त कणों को बेअसर करता है। शहतूत में विटामिन A, C और E भी होता है जो झुर्रियों को दूर करता है।

4. वजन घटाने को बढ़ावा दे (Promote weight loss)

शहतूत, विशेष रूप से काली शहतूत में पेक्टिन (pectin) होता है। पेक्टिन एक फाइबर है जो आमतौर पर फलों में पाया जाता है। यह मल को आंतों से गुजरने में मदद करने के लिए एक रेचक के रूप में कार्य करता है। शहतूत पाचन की सुविधा प्रदान करता है। यह लाभ हमें कब्ज, सूजन और पेट में ऐंठन से छुटकारा दिलाता है। शहतूत लोगों को फैट खोने और उनके शरीर को टोन करने में भी मदद करता है।

5. ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने में मदद करे (Help increase blood circulation)

शहतूत में उच्च आयरन सामग्री लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाती है। सरल शब्दों में, शहतूत आवश्यक ऊतकों और अंगों में ऑक्सीजन वितरण को बढ़ाता है। नतीजतन, यह मेटाबोलिज्म को बढ़ावा देता है और शरीर के कामकाज को बढ़ाता है। वे एंटीऑक्सीडेंट में भी समृद्ध हैं जो रक्त वाहिकाओं को पतला करके उनके कामकाज में सुधार करते हैं। यह आगे हृदय से शरीर के अन्य भागों में मुक्त प्रवाह को सक्षम करके ब्लड प्रेशर के नियमन को सुनिश्चित करता है।

6. दृष्टि में सुधार करे (Improve vision)

ज़ेक्सैन्थिन (Zeaxanthin) शहतूत में पाए जाने वाले कैरोटीनॉयड (carotenoids) में से एक है। यह आगे एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है और रेटिना क्षति को रोकता है। यह मुक्त कणों को हटाता है जो धब्बेदार मैकुलर डिजनरेशन (macular degeneration) और मोतियाबिंद (cataracts) का कारण बन सकते हैं। शहतूत से बनी चाय पारंपरिक चीनी चिकित्सा के अनुसार आंखों की रोशनी में सुधार करती है।

7. बोन टिश्यू बनाता है (Makes bone tissue)

विटामिन K, कैल्शियम और आयरन सबसे अच्छे पोषक तत्व हैं जो हड्डियों के ऊतकों के निर्माण में मदद करते हैं। शहतूत में यह सब है, इन पोषक तत्वों की उपस्थिति से हड्डियों का क्षरण और हड्डियों के विकार बंद हो जाते हैं। ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) और गठिया (arthritis) सामान्य अपक्षयी स्थितियां हैं जिनसे शहतूत के सेवन से बचा जा सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment