भुना चना खाने के फायदे, चना खाने का सही तरीका

भुना चना खाने के फायदे, चना खाने का सही तरीका (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
भुना चना खाने के फायदे, चना खाने का सही तरीका (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

भुना हुआ चना, जिसे भुना चना भी कहा जाता है, विभिन्न स्वास्थ्य लाभों के साथ एक पौष्टिक और बहुमुखी भोजन है। आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर, भुना हुआ चना कई संस्कृतियों में एक लोकप्रिय नाश्ता है और इसे संतुलित आहार में शामिल किया जा सकता है। भुने चने के फायदे और सेवन का सही तरीका समझने से समग्र कल्याण में योगदान मिल सकता है।

भुना चना खाने के फायदे, चना खाने का सही तरीका (7 Benefits of eating roasted gram, right way to eat gram in hindi)

youtube-cover

प्रोटीन से भरपूर: भुना हुआ चना पौधे-आधारित प्रोटीन का एक उत्कृष्ट स्रोत है, जो इसे शाकाहारियों और शाकाहारियों के लिए एक आदर्श विकल्प बनाता है। प्रोटीन मांसपेशियों की मरम्मत, प्रतिरक्षा कार्य और समग्र शरीर के रखरखाव के लिए महत्वपूर्ण है।

फाइबर सामग्री: आहारीय फाइबर से भरपूर भुने हुए चने कब्ज को रोककर और नियमित मल त्याग में सहायता करके पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं। फाइबर स्वस्थ वजन बनाए रखने और रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में भी मदद करता है।

कम चर्बीवाला: भुना हुआ चना एक कम वसा वाला नाश्ता है, जो इसे वसा के सेवन पर ध्यान देने वाले लोगों के लिए एक स्वस्थ विकल्प बनाता है। इसमें मौजूद असंतृप्त वसा की मध्यम मात्रा हृदय स्वास्थ्य में योगदान कर सकती है।

विटामिन और खनिजों से भरपूर: यह आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस और बी-विटामिन सहित आवश्यक विटामिन और खनिजों का एक अच्छा स्रोत है। ये पोषक तत्व विभिन्न शारीरिक कार्यों, जैसे ऊर्जा उत्पादन और हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

ऊर्जा को बढ़ावा: भुने हुए चने में जटिल कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का संयोजन ऊर्जा की निरंतर रिहाई प्रदान करता है, जिससे यह उन लोगों के लिए एक उत्कृष्ट नाश्ता बन जाता है जिन्हें दिन के दौरान त्वरित ऊर्जा बढ़ाने की आवश्यकता होती है।

रक्त शर्करा विनियमन: भुने हुए चने का कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है, जिससे यह मधुमेह वाले व्यक्तियों के लिए एक उपयुक्त विकल्प बन जाता है। यह तेजी से वृद्धि किए बिना स्थिर रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ावा देता है।

वज़न प्रबंधन: अपने प्रोटीन और फाइबर सामग्री के कारण, भुना हुआ चना तृप्ति की भावना में योगदान देता है, समग्र कैलोरी सेवन को कम करके वजन प्रबंधन में सहायता करता है।

भुने चने खाने का सही तरीका

आंशिक नियंत्रण: जबकि भुने हुए चने एक स्वस्थ नाश्ता है, संयम महत्वपूर्ण है। उचित मात्रा में इसका सेवन अतिरिक्त कैलोरी सेवन के बिना संतुलित आहार बनाए रखने में मदद करता है।

अन्य खाद्य पदार्थों के साथ संयोजन: एक संपूर्ण नाश्ते के लिए भुने चने को अन्य पौष्टिक खाद्य पदार्थों के साथ मिलाएं। इसे सलाद में शामिल करें, नट्स के साथ मिलाएं, या अतिरिक्त स्वाद और पोषण संबंधी लाभों के लिए ताजे फलों के साथ इसका आनंद लें।

घर पर भूनना: भूनने की प्रक्रिया को नियंत्रित करने और अतिरिक्त तेल या अतिरिक्त परिरक्षकों से बचने के लिए घर पर बने भुने चने का विकल्प चुनें। स्वास्थ्यवर्धक विकल्प के लिए बस उन्हें ओवन में या स्टोवटॉप पर न्यूनतम तेल के साथ भूनें।

भोजन में शामिल करें: भुने चने का उपयोग सूप, दही या नाश्ते के कटोरे में कुरकुरे टॉपिंग के रूप में करें। इसका अखरोट जैसा स्वाद विभिन्न व्यंजनों का स्वाद बढ़ा सकता है।

अत्यधिक नमक से बचें: भूनते समय, अतिरिक्त सोडियम सेवन को रोकने के लिए नमक का प्रयोग कम मात्रा में करें। बहुत अधिक नमक उच्च रक्तचाप और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं में योगदान दे सकता है।

अंत में, भुना हुआ चना एक पौष्टिक नाश्ता है जिसका संतुलित आहार के हिस्से के रूप में सीमित मात्रा में आनंद लिया जा सकता है। अपने कई स्वास्थ्य लाभों के साथ, भुने हुए चने को अपने दैनिक खाने की आदतों में शामिल करना समग्र कल्याण में योगदान दे सकता है और एक स्वादिष्ट और संतोषजनक स्नैक विकल्प प्रदान कर सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar