इंसुलिन के स्तर को कम करने के 7 तरीके - Ways To Lower Insulin Levels

इंसुलिन के स्तर को कम करने के 7 तरीके (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
इंसुलिन के स्तर को कम करने के 7 तरीके (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

आपको बता दें कि इंसुलिन के स्तर को कम करना संभव है। शरीर के इंसुलिन के स्तर को कम करने के लिए नीचे कुछ आवश्यक सुझाव दिए गए हैं, जिनमें बताया गया है कि क्या शामिल करें और अपने दैनिक जीवन में बदलाव लाएं। इस लेख में इंसुलिन के स्तर को कम करने के 7 तरीके बताये गए हैं।

इंसुलिन के स्तर को कम करने के 7 तरीके

1. शारीरिक रूप से सक्रिय रहें (Stay Physically Active)

इंसुलिन के स्तर को कम करने के लिए गतिहीन जीवन शैली से बचना आवश्यक है। स्वस्थ और मधुमेह या पूर्व मधुमेह व्यक्तियों के लिए नियमित व्यायाम आवश्यक है। शारीरिक गतिविधि किसी के इंसुलिन के स्तर को कम करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है, खासकर यदि वे अधिक वजन वाले या मोटे हैं और उन्हें टाइप 2 मधुमेह है।

2. कार्ब्स का सेवन कम करें (Reduce carbs intake)

पास्ता, बिरयानी और आलू के कुरकुरे स्वादिष्ट खाने सभी को पसंद होते हैं, लेकिन यह कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थ आपको फायदे से ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं। कार्ब्स ब्लड शुगर और इंसुलिन दोनों के स्तर को काफी बढ़ा देते हैं। इंसुलिन के स्तर और ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए कार्ब युक्त आहार में कटौती करें।

3. अपने प्रोटीन का ध्यान रखें (Look after your protein intake)

प्रोटीन की एक स्वस्थ मात्रा इंसुलिन उत्पादन के लिए अच्छी होती है, लेकिन इसकी बहुत अधिक मात्रा एक समस्या है। प्रोटीन इंसुलिन उत्पादन को उत्तेजित करते हैं। इसलिए, बहुत अधिक प्रोटीन खाने से आपके इंसुलिन का स्तर बढ़ जाएगा।

4. पोरशंस कंट्रोल करें (Control the portions)

यदि आप एक ही बार में बहुत अधिक खाते हैं, तो आपका अग्न्याशय अधिक इंसुलिन का उत्पादन करता है। बहुत अधिक इंसुलिन 'हाइपरिन्सुलिनमिया' की ओर ले जाता है, खासकर यदि आपके शरीर का वजन अधिक है और इंसुलिन प्रतिरोध है।

5. चीनी का सेवन बंद कर दें (Cut down sugar)

उच्च इंसुलिन स्तर वाले व्यक्तियों के लिए यह आवश्यक है कि वे अपने शुगर इन्टेक और कार्बोहाइड्रेट में कटौती करें। बहुत अधिक चीनी का सेवन करने से किसी के रक्त प्रवाह में ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है, जिससे लंबे समय में इंसुलिन प्रतिरोध होता है।

6. इंटरमिटेंट फास्टिंग का चयन करें (Try Intermittent Fasting)

हाल के दिनों में जहां इंटरमिटेंट फास्टिंग वजन घटाने की प्रवृत्ति के रूप में सामने आया है, वहीं इसके और भी कई फायदे हैं। आंतरायिक उपवास व्यक्तियों को भोजन का सेवन कब करना है, इस पर एक सख्त टाइमटेबल का पालन करने पर ध्यान केंद्रित करवाता है, ताकि किन्हीं दो भोजनों के बीच पर्याप्त अंतराल हो। यह इंसुलिन के स्तर को कम करने में भी मददगार है।

7. वजन नियंत्रित रखें (Keep weight under control)

यदि आप अपने इंसुलिन के स्तर को कम करना चाहते हैं, तो वजन घटाने पर आप विचार कर सकते हैं। इस मामले में, पेट की चर्बी या आंत की चर्बी कम करने से आपके इंसुलिन का स्तर कम हो सकता है। बेली फैट विसरल फैट है, जो आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है। आपके पेट में आंत की चर्बी इंसुलिन प्रतिरोध को बढ़ाती है, जिससे उच्च इंसुलिन का स्तर बढ़ जाता है। उस फैट को खोने से इंसुलिन का स्तर काफी कम हो सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now