Create

सहजन के फूल के 8 फायदे - Sahjan Ke Phool Ke 8 Fayde

सहजन के फूल के 8 फायदे (फोटो - sportskeedaहिंदी)
सहजन के फूल के 8 फायदे (फोटो - sportskeedaहिंदी)

सहजन के फूलों (Drumstick flowers) को प्रमुख रूप से सुपरफूड माना जा सकता है। यह न केवल अविश्वसनीय रूप से पौष्टिक हैं, बल्कि इसके औषधीय गुण मूल्यवान सिद्ध हो चुके हैं। यह भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में सबसे प्रसिद्ध है। इसमें विटामिन A (अल्फा और बीटा कैरोटीन), B, B1, B2, B3, B4, B5, B6, C, D, E, K, अमीनो एसिड, फोलेट (फोलिक एसिड), आयरन, कैल्शियम, फॉस्फोरस और बायोटिन पाया जाता है। सहजन और इसकी पत्तियों के समान ही इसके फूल के भी स्वास्थ्य लाभ होते हैं। यह कई बीमारियों से बचाव करने और लक्षणों को कम करने के लिए कारगर हैं। इस लेख के माध्यम से हम सहजन के फूलों के फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं।

सहजन के फूल के 8 फायदे

सहजन के फूलों के औषधि (medicinal) और सौंदर्य उत्पादों (beauty products) के क्षेत्र में कई उपयोग हैं -

1. सहजन के फूलों को अमीनो एसिड (amino acid), पोटेशियम (potassium) और कैल्शियम (calcium) का एक समृद्ध स्रोत माना जाता है, जो उन्हें नर्सिंग माताओं के लिए एक महत्वपूर्ण पूरक बनाता है।

2. सहजन के फूलों को औषधीय चाय (medicinal tea) बनाने के लिए पीसा जाता है और यह चाय मूत्र पथ के संक्रमण के इलाज के लिए स्वास्थ्य टॉनिक के रूप में उपयोगी मानी गयी है।

3. स्तनपान कराने वाली महिलाओं (nursing mothers) के लिए सहजन के फूल सबसे अच्छे पूरक हैं क्योंकि यह दूध के प्रवाह और इसके पोषण को बढ़ाने में मदद करते हैं।

4. सहजन के फूल अपने शक्तिशाली मूत्रवर्धक सामग्री के कारण वजन प्रबंधन (weight management) में भी फायदेमंद हैं, जो सूजन (inflammation) और जल प्रतिधारण (water retention) को कम करने में मदद करते हैं।

5. सहजन के फूलों में मौजूद शक्तिशाली एंटी-बायोटिक एजेंट (Antibiotic Agent) संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं।

6. सहजन का फूल ऊतक क्षति (tissue damage) से बचाता है और लिवर के कार्य को मजबूत करता है।

7. सहजन के फूल नपुंसकता (impotency) और यौन विकारों (sexual disorders) के उपचार में उपयोगी होते हैं।

8. अपनी हल्की सुगंध और एंटी-ऑक्सीडेंट लाभों के कारण यह त्वचा के लिए फायदेमंद है। इसका उपयोग बालों के तेल सहित सौंदर्य प्रसाधन (beauty products) और इत्र (perfume) बनाने में किया जाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment