पानी की कमी होने पर शरीर देता है ये संकेत तथा जानिए इसके उपाय

पानी की कमी होने पर शरीर देता है ये संकेत तथा जानिए इसके उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
पानी की कमी होने पर शरीर देता है ये संकेत तथा जानिए इसके उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

निर्जलीकरण (Dehydration) तब होता है जब शरीर जितना पानी लेता है उससे अधिक खो देता है, जिससे द्रव के स्तर में असंतुलन हो जाता है। डिहाइड्रेशन के संकेतों को तुरंत पहचानना और स्थिति को ठीक करने के लिए उचित उपाय करना आवश्यक है। यहाँ डिहाइड्रेशन के कुछ सामान्य लक्षण और उनके उपाय दिए गए हैं: -

पानी की कमी होने पर शरीर देता है ये संकेत तथा जानिए इसके उपाय (Dehydration Signs & Remedies In Hindi)

प्यास: प्यास पानी की आवश्यकता का संकेत देने का शरीर का तरीका है। यदि आपको प्यास लगती है, तो यह एक संकेत है कि आप पहले से ही हल्के से निर्जलित हैं। उपाय सरल है- पानी या अन्य हाइड्रेटिंग तरल पदार्थ जैसे हर्बल चाय, नारियल पानी, या इलेक्ट्रोलाइट युक्त पेय पदार्थ पिएं।

गहरा मूत्र: जब आप निर्जलित होते हैं, तो आपका मूत्र केंद्रित हो जाता है और सामान्य से अधिक गहरा दिखाई देता है। इसका उपाय करने के लिए, अपने तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं, पानी पर ध्यान केंद्रित करें और हाइड्रेशन के स्तर के लिए एक गाइड के रूप में अपने मूत्र के रंग की निगरानी करें। साफ या हल्का पीला पेशाब पर्याप्त जलयोजन का संकेत है।

थकान और चक्कर आना: डिहाइड्रेशन के कारण थकान, ऊर्जा की कमी और चक्कर आ सकते हैं। इससे निपटने के लिए बार-बार ब्रेक लें और जरूरत पड़ने पर आराम करें। इलेक्ट्रोलाइट्स युक्त पानी या पेय पदार्थों से पुनर्जलीकरण करें, जो पसीने के माध्यम से खो जाने वाले महत्वपूर्ण खनिजों को फिर से भरने में मदद करते हैं।

शुष्क मुँह और होंठ: जब आप निर्जलित होते हैं, तो आपका मुँह और होंठ सूखे और झुलसे हुए महसूस हो सकते हैं। नियमित रूप से पानी पिएं और सूखेपन को कम करने के लिए लिप बाम का उपयोग करने पर विचार करें। कैफीन और शराब के अत्यधिक सेवन से बचें, क्योंकि ये डिहाइड्रेशन में योगदान कर सकते हैं।

सिरदर्द: डिहाइड्रेशन सिरदर्द को ट्रिगर कर सकता है या मौजूदा लोगों को खराब कर सकता है। पानी पीकर रिहाइड्रेट करें और यदि आवश्यक हो तो ठंडे और छायादार वातावरण में एक छोटा सा ब्रेक लें। सिरदर्द के लक्षणों से राहत पाने के लिए अपने माथे या कनपटी पर ठंडा सेक लगाएं।

मांसपेशियों में ऐंठन: डिहाइड्रेशन से मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है, खासकर शारीरिक गतिविधि के दौरान। यदि आप मांसपेशियों में ऐंठन का अनुभव करते हैं, तो आराम करें और प्रभावित मांसपेशियों को धीरे से फैलाएं। पानी पीकर या स्पोर्ट्स ड्रिंक का सेवन करके तरल पदार्थ और इलेक्ट्रोलाइट्स की भरपाई करें।

रूखी त्वचा: अपर्याप्त जलयोजन के कारण त्वचा रूखी और पपड़ीदार हो सकती है। हाइड्रेटिंग लोशन या क्रीम से नियमित रूप से अपनी त्वचा को मॉइस्चराइज़ करें। अपनी त्वचा को भीतर से हाइड्रेटेड रखने के लिए अपने तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं।

मूत्र उत्पादन में कमी: निर्जलित होने पर, शरीर मूत्र उत्पादन को कम करके पानी का संरक्षण करता है। यदि आप मूत्र उत्पादन में उल्लेखनीय कमी देखते हैं, तो तुरंत अपने तरल पदार्थ का सेवन बढ़ा दें। यदि स्थिति बनी रहती है, तो चिकित्सकीय ध्यान दें।

तेज़ दिल की धड़कन और निम्न रक्तचाप: गंभीर डिहाइड्रेशन से हृदय गति बढ़ सकती है और निम्न रक्तचाप हो सकता है। ऐसे मामलों में, तुरंत पुनर्जलीकरण करना महत्वपूर्ण है। धीरे-धीरे पानी पिएं और लक्षण बने रहने या बिगड़ने पर चिकित्सकीय सहायता लेने पर विचार करें।

याद रखें, रोकथाम हमेशा इलाज से बेहतर होती है। पूरे दिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर हाइड्रेटेड रहें। गर्म मौसम में या ज़ोरदार गतिविधियों के दौरान, पसीने के माध्यम से पानी के नुकसान की भरपाई के लिए अपने तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएँ। इन संकेतों को ध्यान में रखकर और उचित उपचारात्मक उपाय करके, आप अपने शरीर के जलयोजन स्तर और समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now