बवासीर का घरेलू उपचार

बवासीर का घरेलू उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
बवासीर का घरेलू उपचार (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

बवासीर, जिसे पाइल्स के रूप में भी जाना जाता है, एक सामान्य चिकित्सा स्थिति है जिसमें मलाशय और गुदा में रक्त वाहिकाओं में सूजन और जलन होती है। यह स्थिति काफी असुविधाजनक हो सकती है, जिससे दर्द, रक्तस्राव और खुजली हो सकती है। जबकि चिकित्सा हस्तक्षेप अक्सर आवश्यक होता है, कई घरेलू उपचार लक्षणों को कम करने और उपचार को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं।

बवासीर का घरेलू उपचार (8 Home remedies for piles in hindi)

1. उच्च फाइबर आहार: फाइबर से भरपूर आहार मल को नरम कर सकता है और मल त्याग को आसान बना सकता है, जिससे मल त्याग के दौरान तनाव कम हो जाता है। फाइबर का सेवन बढ़ाने के लिए अपने आहार में फल, सब्जियाँ, साबुत अनाज और फलियाँ शामिल करें।

2. पर्याप्त जलयोजन: खूब पानी पीने से कब्ज को रोकने में मदद मिलती है, जो बवासीर को बढ़ा सकती है। पर्याप्त जलयोजन मल को नरम करता है और नियमित मल त्याग को बढ़ावा देता है, जिससे तनाव का खतरा कम हो जाता है।

3. गर्म सिट्ज़ स्नान: 15-20 मिनट तक गर्म पानी में भिगोने से, जिसे सिट्ज़ बाथ कहा जाता है, बवासीर से जुड़े दर्द और खुजली से राहत मिल सकती है। आराम के लिए इसे दिन में कई बार किया जा सकता है।

4. विच हेज़ल कंप्रेस: विच हेज़ल कंप्रेस या मलहम लगाने से सूजन और सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है। विच हेज़ल में प्राकृतिक सूजन-रोधी गुण होते हैं जो चिढ़ ऊतकों को शांत कर सकते हैं।

5. एलोवेरा जेल: एलोवेरा में सूजन-रोधी और सुखदायक गुण होते हैं। प्रभावित क्षेत्र पर थोड़ी मात्रा में शुद्ध एलोवेरा जेल लगाने से असुविधा से राहत मिल सकती है और उपचार को बढ़ावा मिल सकता है।

6. एप्सम नमक स्नान: नहाने के गर्म पानी में एप्सम नमक मिलाकर नहाने से बवासीर से जुड़े दर्द और सूजन से राहत मिल सकती है। एप्सम नमक में सूजन-रोधी गुण होते हैं जो असुविधा को कम कर सकते हैं।

7. नियमित व्यायाम करें: नियमित शारीरिक गतिविधि स्वस्थ मल त्याग को बढ़ावा देती है और कब्ज के खतरे को कम करती है। पैदल चलना, तैराकी या योग जैसे व्यायामों को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

8. ठंडी सिकाई: प्रभावित क्षेत्र पर ठंडा सेक लगाने से सूजन को कम करने और क्षेत्र को सुन्न करने में मदद मिल सकती है, जिससे दर्द और परेशानी से अस्थायी राहत मिल सकती है।

हालाँकि ये घरेलू उपचार बवासीर के लक्षणों से राहत दिला सकते हैं, लेकिन उचित निदान और उचित उपचार योजना के लिए स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना महत्वपूर्ण है। यदि लक्षण बने रहते हैं या बिगड़ जाते हैं, तो बवासीर के प्रभावी प्रबंधन के लिए चिकित्सीय सलाह लेना आवश्यक है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar