Create

अजवाइन का काढ़ा पीने के 4 फायदे

अजवाइन का काढ़ा पीने के फायदे(फोटो-Sportskeeda hindi)
अजवाइन का काढ़ा पीने के फायदे(फोटो-Sportskeeda hindi)
Rakshita Srivastava

अजवाइन (Ajwain) एक मसाला है, जो खाने में स्वाद को तो बढ़ाता ही है, साथ ही स्वास्थ्य को भी कई लाभ पहुंचाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं यदि आप अजवाइन के काढ़े का सेवन करते हैं, तो यह स्वास्थ्य के लिए ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। जी हां अजवाइन का काढ़ा पीने से स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं से छुटकारा मिलता है। क्योंकि अजवाइन में विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन के प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, साथ ही अजवाइन एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेट्री, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुणों से भी भरपूर होता है, जो स्वास्थ्य के लिहाज से काफी लाभदायक साबित होते हैं। तो आइए जानते हैं अजवाइन का काढ़ा पीने के क्या-क्या फायदे होते हैं।

अजवाइन का काढ़ा पीने के 4 फायदे-Ajwain Ka Kadha Pine Ke Fayde In Hindi

इम्यूनिटी होती है मजबूत

अजवाइन में एंटी बैक्टीरियल और विटामिन सी जैसे गुण पाए जाते हैं, इसलिए अगर आप अजवाइन के काढ़े का सेवन करते हैं, तो इससे इम्यूनिटी (Immunity) मजबूत होती है। जो आपको वायरस और बैक्टीरिया से सुरक्षित रखने में मदद करता है।

सर्दी-जुकाम में फायदेमंद

बारिश के मौसम में सर्दी-जुकाम (Cold) की समस्या एक आम समस्या है, लेकिन सर्दी-जुकाम की शिकायत होने पर अगर आप अजवाइन के काढ़े का सेवन करते हैं, तो यह फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि अजवाइन का काढ़ा एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है, जो सर्दी-जुकाम को दूर करने में मदद करता है।

पेट के लिए फायदेमंद

अजवाइन के काढ़े का सेवन पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि अजवाइन का काढ़ा पीने के पाचन तंत्र (Digestion) मजबूत होता है और अपच, पेट दर्द, पेट में ऐंठन और पेट में सूजन जैसी पेट से जुड़ी समस्याएं दूर होती है।

पीरियड्स के दर्द में फायदेमंद

महिलाओं को पीरियड्स (Periods) के समय पेट में दर्द और ऐंठन की शिकायत रहती है, लेकिन पीरियड्स के समय अगर महिलाएं अजवाइन के काढ़े का सेवन करती हैं, तो इससे दर्द और ऐंठन की समस्या से छुटकारा मिलता है।

अजवाइन का काढ़ा बनाने का तरीका

अजवाइन का काढ़ा बनाने के लिए एक पैन में दो कप पानी ले लेना चाहिए, फिर उसमें अजवाइन, तुलसी के 3-4 पत्ते और चुटकी भर हल्दी मिला लेनी चाहिए। फिर पानी को अच्छी तरह से उबलने देना चाहिए, जब पानी उबल के आधा हो जाए, तो काढ़े का छानकर पी लेना चाहिए। आप चाहे तो इसमें शहद भी मिला सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Rakshita Srivastava

Comments

comments icon
Fetching more content...