Create
Notifications

अश्वगंधा के फायदे और नुकसान : Ashwagandha Benefits And Side Effects 

अश्वगंधा के फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
अश्वगंधा के फायदे और नुकसान (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar
visit

आयुर्वेदिक तारिके से इलाज में, अश्वगंधा एक ऐसी रामबाण दावा है जो काई रोग दूर करने में ली जाती है। इसे इंडियन जिनसेंग के नाम से भी जाते हैं जो ऊंचाई बढ़ाने, वजन घटाने, त्वचा, बाल, वजन बढ़ाने, शरीर केले, मधुमेह, रक्तचाप, गाठिया, कैंसर जैसा रोगो के ऊपर में उपयोगी है। अश्वगंधा चूर्ण (पाउडर) और कैप्सूल दोनो में मिलता है। इस लेख में आप अश्वगंधा के फायदे और नुकसान के बारे में जानेंगे।

अश्वगंधा के फायदे और नुकसान : Ashwagandha Benefits And Side Effects In Hindi

हृदय स्वास्थ के लिए (Good for heart)

अश्वगंधा के नियमित खुराक लेने से हार्ट अटैक होने की संभावना बेहद कम हो जाती है। अश्वगंधा के सेवन से खून में मौजूद बैड कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड कम होता है जिसके कारण कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है जिसके कारण हार्ट अटैक होने की संभावना बहुत कम हो जाती है।

कैंसर से बचाव (helps in cancer)

अश्वगंधा के सेवन से शरीर में रिएक्टिव ऑक्सीजन स्पीशीज पैदा होती है जो शरीर में कैंसर सेल्स को पैदा होते ही नष्ट कर देता है। कीमो थेरेपी के दौरान अश्वगंधा के सेवन से कीमोथेरेपी के साइड इफेक्ट में भी कमी आती है हालांकि जो व्यक्ति अश्वगंधा का नियमित सेवन करता है वह कैंसर जैसी बड़ी बीमारी से भी बचा रहता है।

डायबिटीज (diabetes)

अश्वगंधा का सेवन नियमित रूप से किया जाए तो डायबिटीज से भी बचा जा सकता है। अगर कोई व्यक्ति भी अश्वगंधा का सेवन रोज़ सही तरीके से करता है तो वह भी डायबिटीज जैसी बड़ी बीमारी से बचा रह सकता है।

अनिद्रा की समस्या के लिए (Insomnia)

आज के समय में काम की चिंता, डिप्रेशन एवं खराब जीवनशैली की वजह से अनिद्रा की समस्या भी काफी तेजी से बढ़ रही है। जिन लोगों को कम नींद आती है उनका शरीर सही से रिकवर नहीं हो पाता जिसके कारण नींद लेने के बाद भी शरीर थका थका महसूस करता है ऐसे में अश्वगंधा का सेवन करने से अनिद्रा की समस्या धीरे-धीरे ठीक होने लगती है।

थाइरोइड में फायदेमंद (Helps In Thyroid)

स्त्रियों में थायराइड की समस्या सबसे ज्यादा देखी जाती है। थाइरोइड ग्लैंड एक प्रकार की ग्रंथि है जो गले में पाई जाती है। यह शरीर में ऊर्जा को कंट्रोल करने के लिए जिम्मेदार होती है। जब थायराइड ग्रंथि अनियमित हो जाती है तो शरीर का वजन तेज़ी से घटने या तेजी से बढ़ने लग जाता है इसी को थायराइड की बीमारी कहते हैं।

तनाव के लिए

आज ज्यादातर लोग काम या किसी अन्य वजह से स्ट्रेस (तनाव) में रहते हैं। स्ट्रेस के कारण खून में कोर्टिसोल की मात्रा ज्यादा उत्पन्न होती है जो कई बीमारियों एवं जल्दी बुढ़ापा आने का कारण बनता है। अश्वगंधा के सेवन से स्ट्रेस हार्मोन की मात्रा खून में कम हो जाती है जिसके कारण आपका मूड भी अच्छा रहता है।

अश्वगंधा के नुकसान :-

- गर्भवती महिलाओं को अश्वगंधा का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है और यह बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

- जिन लोगों का पाचन कमजोर है उन लोगों को अश्वगंधा का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे उनका पेट भी खराब हो सकता है इसलिए सबसे पहले त्रिफला खाकर अपने पेट को ठीक करें, अपने पाचन तंत्र को मजबूत करें उसके बाद ही अश्वगंधा का सेवन करें।

- 5 साल से छोटे बच्चों को अश्वगंधा बिल्कुल नहीं देना चाहिए वरना उनकी तबीयत भी खराब हो सकती है।

- जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर यानी कि हाइपरटेंशन की समस्या है उन लोगों को भी अश्वगंधा खाने से बचना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now