Create
Notifications

बुद्धि को प्रखर बनाने के लिए अपनाएं यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां - Ayurvedic Herbs To Make Your Intellect Sharp 

बुद्धि को प्रखर बनाने के लिए अपनाएं यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां (फोटो - sportskeedaहिंदी)
बुद्धि को प्रखर बनाने के लिए अपनाएं यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां (फोटो - sportskeedaहिंदी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar
visit

बच्चे हो या बड़े हर किसी में दिनचर्या के कामों को करने के लिए तेज़ बुद्धि होनी आवश्यक है। आज के समय में जीवन एक प्रतियोगिता के समान है, जिसमें सभी को आगे बढ़ना है। ऐसे में बुद्धि का तेज़ होना और मेंटल हेल्थ का ख्याल रखना ज़रूरी है। स्कूल जाते बच्चे से लेकर ऑफिस का काम करते लोगो तक सभी मेंटल प्रेशर झेलते हैं। ऐसे में यह ध्यान रखना ज़रूरी है के अपने ब्रेन को शार्प कैसे रखें। इस लेख में हम कुछ ऐसी जड़ी-बूटियों के बारे में जानकारी लाए हैं जो आपकी बुद्धि को ना केवल तेज़ करें बल्कि बुद्धि को प्रखर बनाने में मददगार है। यह जड़ी-बूटियां दिमाग को एक्टिव बनाए रखने में और ऊर्जा प्रदान करने में सहायक है।

बुद्धि को प्रखर बनाने के लिए अपनाएं यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां - Ayurvedic Herbs To Make Your Intellect Sharp In Hindi

आयुर्वेद स्मृति और मानसिक प्रदर्शन में सुधार करके आपके मानसिक स्वास्थ्य पर एक सुरक्षित और स्थायी प्रभाव प्रदान करता है। मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य या मन की स्वस्थ स्थिति इंद्रियों और उनके कार्यों जैसे जागरूकता, ध्यान, एकाग्रता, आत्मसात, प्रतिधारण और स्मरण पर निर्भर करती है। याददाश्त बढ़ाने के लिए वात और कफ दोनों संतुलित होने चाहिए। वात और कफ की संतुलित अवस्था स्मृति को बढ़ाने में मदद करती है जबकि संतुलित पित्त दोष मानसिक तीक्ष्णता और आईक्यू में सुधार करने में प्रमुख भूमिका निभाता है। यह कुछ जड़ी बूटियां है जो आपके लिए लाभदायक होंगी।

शंखपुष्पी (Shankhpushpi)

यह जड़ी बूटी मस्तिष्क को अत्यधिक लाभ प्रदान करती है और संज्ञानात्मक कार्यों में मदद करती है। शंखपुष्पी आयुर्वेद में 'मेध्य रसायन' की श्रेणी में आती है, जिसका अर्थ है कि यह याददाश्त बढ़ाने में कारगर है। इस तथ्य को आधुनिक विज्ञान ने भी स्वीकार किया है कि जड़ी बूटी स्मृति, एकाग्रता और संज्ञानात्मक कार्य में सुधार करती है। आप इस जड़ी बूटी का उपयोग याददाश्त बढ़ाने और रोज़मर्रा के तनाव को दूर करने के लिए कर सकते हैं।

कुष्मांड (Kushmand)

कुष्मांड (सफेद लौकी) मस्तिष्क टॉनिक के रूप में कार्य करता है और याददाश्त में सुधार करने में प्रभावी है। यह औषधीय पौधा एक सब्जी के रूप में भी प्रयोग किया जाता है और एक ट्रैंक्विलाइज़र के रूप में कार्य करता है और इसलिए स्किज़ोफ्रेनिया, दुर्बलता और स्मृति हानि में उपयोगी होता है।

ब्राह्मी (Brahmi)

प्राचीन काल से ही ब्राह्मी को मस्तिष्क के लिए टॉनिक माना जाता रहा है। यह मस्तिष्क की शक्ति में सुधार करता है और याददाश्त को तेज और स्पष्ट करने में मदद करता है। प्राचीन आयुर्वेदिक साहित्य में, ब्राह्मी का उपयोग विद्वानों और छात्रों द्वारा लंबे वैदिक ग्रंथों को याद करने में मदद के लिए किया जाता था। अपने शांत और पोषण गुणों के कारण, ब्राह्मी अत्यधिक तनावपूर्ण कार्य या अध्ययन वातावरण के लिए भी बहुत उपयोगी है। यह उन छात्रों और लोगों के लिए एक आदर्श जड़ी बूटी है जो अनुसंधान और शैक्षणिक कार्यों में शामिल हैं।

वचा (Vacha)

वचा एक जड़ी बूटी है, जिसके बारे में माना जाता है कि यह आयुर्वेद के अनुसार बुद्धि को बढ़ाती है। ऐसा माना जाता है कि यह मस्तिष्क में रक्त परिसंचरण में सुधार करती है और मस्तिष्क को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की आपूर्ति करती है, जिससे मस्तिष्क और दिमाग के कार्यों में सुधार होता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now