Create

लिकोरिया का आयुर्वेदिक इलाज - leucorrhoea ka Ayurvedic Ilaj

ये है लिकोरिया का बेहतरीन आयुर्वेदिक इलाज
ये है लिकोरिया का बेहतरीन आयुर्वेदिक इलाज

लिकोरिया जिसे व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या कहा जाता है। इसमें महिलाओं के गर्भाशय से पानी (Vaginal Discharge) का स्राव होने लगता है। लिकोरिया की समस्या होने पर महिलाओं को अत्यंत थकान महसूस होती है और चेहरा निस्तेज हो जाता है। आंखों के नीचे धब्बे पड़ जाते हैं, कमजोरी आ जाती है। दर्द और सूजन भी रहती है साथ ही शरीर में तनाव रहता है। अगर थोड़ा बहुत व्हाइट डिस्चार्ज हो तो यह परेशानी वाली बात नहीं है, लेकिन अगर कई दिनों तक ये डिस्चार्ज हो रहा है तो यह चिंताजनक बात हो सकती है। इस समस्या का समाधान पाने के लिए डॉक्टर से संपर्क किया जा सकता है। लेकिन, इसका आयुर्वेदिक इलाज (leucorrhoea ayurvedic treatment) भी है जिसके जरिए आप इस समस्या से राहत पा सकती हैं।

लिकोरिया का आयुर्वेदिक इलाज - leucorrhoea ka Ayurvedic Ilaj in hindi

गुलाब के पत्ते से बनाए औषधि (Rose leaves medicine to get rid of leucorrhoea)

गुलाब के पत्ते से तैयार की गई औषधि लिकोरिया की समस्या से छुटकारा दिलाने में काफी उपयोगी मानी गई है। यह एक आयुर्वेदिक उपचार है। इसके लिए गुलाब के पत्तों को सुखाकर इसका चूर्ण तैयार कर लें और इसे रोज एक गिलास गर्म दूध में मिलाकर सेवन करें। हफ्ते भर में ही व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या ठीक हो सकती है।

लिकोरिया का घरेलू उपचार है दूध-केला (The home remedy for leucorrhoea is milk-banana)

लिकोरिया में केला काफी उपयोगी माना गया है। इसके नियमित सेवन से सफेद पानी निकलने की समस्या कुछ ही दिनों में ठीक हो जाती है। साथ ही शरीर की थकान भी दूर होती है। इसके लिए एक गिलास दूध में आधा चम्मच घी डालकर इसमें केला मेश करके रोज सेवन करें।

लिकोरिया का देसी इलाज है आंवला (Amla is the home remedy for leucorrhoea)

लिकोरिया में आंवला काफी कारगर नुस्खा माना गया है। 2 चम्मच आंवले के चूर्ण को शहद में मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें और इसका दिन में दो बार सेवन करें। साथ ही एक कप पानी में एक चम्मच आंवले का पाउडर मिलाकर आधा होने तक उबाल लें और इसमें थोड़ा शहद मिलाकर सेवन करने से भी फायदा होता है।

लिकोरिया की रामबाण दवा है अंजीर (Fig is the panacea for leucorrhoea)

अंजीर का नियमित सेवन करने से माना गया है कि एक महीने में लिकोरिया की समस्या ठीक हो जाती है। इसके लिए 4 अंजीर अच्छे से धोकर रात में भिगो दें और सुबह खाली पेट इस अंजीर को अच्छे से चबाकर खाएं। इसके बाद पानी पी लें।

मेथी से सफेद पानी का इलाज (leucorrhoea treatment with fenugreek)

लिकोरिया में मेथी दाना योनि के माइक्रोफ्लोरा और पीएच के स्तर को संतुलित रखने में मदद करता है। इसके लिए तीन चम्मच मेथी दाना को आधे घंटे तक एक लीटर पानी में उबालें। इसके बाद पानी को छानकर पानी को ठंडा होने दें फिर इस पानी को पी जाएं। कुछ ही समय में आराम मिलने लगेगा।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment