फंगल इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज-Fungal Infection ka ayurvedic ilaj

फंगल इन्फेक्शन का 5 आयुर्वेदिक इलाज
फंगल इन्फेक्शन का 5 आयुर्वेदिक इलाज

फंगल इंफेक्शन स्किन से जुड़ा इंफेक्शन होता है। इसे कवक संक्रमण के नाम से भी जाना जाता है। फंगल इंफेक्शन में शरीर के किसे भी हिस्से को फंगस प्रभावित कर सकता है। फंगस पानी, हवा या किसी भी तरह आपके अंदर आ सकता है जो स्किन से जुड़ी कई तरह की परेशानी को जन्म दे सकता है। वहीं फंगल इंफेक्शन में सफेद रंग के चकत्ते भी देखने को मिला है। अगर इस बीमारी का सही समय पर इलाज नहीं किया जाए तो बड़ी परेशानी का कारण बन सकता है। फंगल इंफेक्शन की वजह से शरीर के दूसरे अंग भी प्रभावित हो सकते हैं। वहीं फंगल इंफेक्शन से प्रभावित लोग कई तरह की दवाओं का सेवन करते हैं। हालांकि इसे आयुर्वेदिक इलाज के जरिए भी ठीक किया जा सकता है।

फंगल इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज

हल्दी(Turmeric)

फंगल इंफेक्शन से छुटकारा दिलाने में हल्दी बहुत फायदेमंद साबित होता है। हल्दी में एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं। ऐसे में कच्ची हल्दी को पीसकर पेस्ट तैयार कर लें और इसे प्रभावित जगह पर लगाएं। जल्द आराम मिलेगा।

नीम(Neem)

स्किन से जुड़ी समस्या को दूर करने में नीम बहुत कारगर है। फंगल इंफेक्शन को दूर करने के लिए नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर ठंडा कर लें और उस पानी से नहा लें। इसके अलावा आप चाहे तो रोजाना 3-4 पत्तियों को चबा लें।

लहसुन(Garlic)

लहसुन में एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं। फंगल इंफेक्शन को दूर करने के लिए लहसुन को पीस लें और इस पेस्ट को इंफेक्शन वाली जगह पर लगाएं।

एलोवेरा(Aloe Vera)

एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर एलोवेरा स्किन संबंधी समस्याओं को दूर करने में बहुत कारगर है। इसके लिए एलोवेरा जेल को प्रभावित जगह पर लगाएं।

नारियल तेल(Coconut oil)

नारियल तेल में फैटी एसिड होता है जो फंगल इंफेक्शन से निजात दिलाने में बहुत कारगर है। फंगल इंफेक्शन को दूर करने के लिए नारियल तेल को रोजाना लगाएं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।