Create
Notifications

बच्चों के दांतों से जुड़ी 5 समस्या : Bacho Ke Dant Se Judi 5 Samasya

बच्चों के दांतों से जुड़ी 5 समस्या (फोटो - sportskeeda hindi)
बच्चों के दांतों से जुड़ी 5 समस्या (फोटो - sportskeeda hindi)
Naina Chauhan
visit

आजकल बच्चों में दातों से जुड़ी कई समस्याएं (Dental Problems) सामने आ रही हैं। अगर बच्चे जरूरत से ज्यादा चॉकलेट, फास्टफूड, चिप्स और कोल्डड्रिंक्स का सेवन करके हाै तो इसे बच्चों के दांत खराब होते हैं। बच्चों के दातों और उससे जुड़ी चीजों पर बहुत ध्यान देना चाहिए। जानते हैं बच्चों में पाई जाने वाली कुछ आम दांतों की समस्याएं (Common Dental Problems) और उनका इलाज क्या है।

बच्चों के दांतों से जुड़ी 5 समस्या : Bacho Ke Dant Se Judi 5 Samasya In Hindi

मसूड़ों की बीमारी (Gums Problem) - यह समस्या वैसे तो बच्चों में बहुत कम ही देखी जाती है लेकिन अगर बच्चे अगर नियमित रूप से ब्रश नहीं करते हैं या अपना ख्याल नहीं रखते हैं तो यह समस्या देखने को मिल सकती है। इससे बचने के लिए आपको अपने बच्चों के मसूड़ों के लिए एक स्वस्थ रूटीन बनाना होगा जिसमें ब्रशिंग जैसी आदतें शामिल हों।

सेंसिटिव दांत (Sensitivity) - सेंसिटिव दांत की समस्या केवल बड़ों को ही नहीं बल्कि बच्चों को भी झेलनी पड़ती है और इसके कुछ कारण होते हैं, दांत में चोट लगना, डीके होना, आपके बच्चे बहुत जोर से ब्रश करते हैं। इस समस्या से बचने के लिए अपने बच्चों के लिए थोड़े नर्म ब्रिसल्स वाली ब्रश लाएं और अगर उन्हें टूथ डीके है तो उसे डॉक्टर के पास जाकर निकलवा लें।

अंगूठा चूसना - अगर आपका बच्चा अंगूठा चूसता है तो इससे दातों और कई तरह की बीमारी हो सकती हैं। इसकी वजह से बच्चों के दांत टेढ़े हो सकते हैं। वहीं कुछ बच्चों की सर्जरी करने तक की नौबत आ जाती है। इसलिए बच्चों की ऐसी आदतों पर ध्यान रखें और समय से छोड़ दें।

डैमेज हुआ दांत (Damaged Teeth) - कई बार बच्चों के दूध के दांत प्राकृतिक रूप से टूटने से पहले ही किसी चोट या एक्सीडेंट के कारण टूट जाते हैं या डैमेज हो जाते हैं। ऐसे में बच्चे को तुरंत डेंटिस्ट के पास लेकर जाना चाहिए ताकि उसके परमानेंट आने वाले दांत पर इसका कोई प्रभाव न पड़े।

बच्चों में टूथ डीके - बच्चों में टूथ डीके की समस्या काफी आम बात है। इसकी वजह से बच्चों को दांत में काफी दर्द होता है और मसूड़ों में सूजन भी आ जाती है। ऐसे में इस समस्या से बचने के लिए बच्चे को ओरल हाइजीन का ध्यान रखना जरूरी है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Naina Chauhan
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now