बच्चों को नमक या चीनी क्यों नहीं देनी चाहिए? जानें 5 कारण 

बच्चों को नमक या चीनी क्यों नहीं देनी चाहिए? जानें 5 कारण (फोटो -Sportskeeda Hindi)
बच्चों को नमक या चीनी क्यों नहीं देनी चाहिए? जानें 5 कारण (फोटो -Sportskeeda Hindi)

नमक salt या चीनी sugar का सेवन अधिक मात्रा में हर किसी के लिए नुकसानभरा होता है, फिर चाहे बड़े हो या छोटे। इन दोनों का सेवन बच्चों के लिए भी नुकसानदायक है। इसका सेवन करने से उनकी किडनी kidney, दांतों teeth और इम्यूनिटी immunity कम होने जैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। जब तक बच्चा 6 महीने का नहीं हो जाता तब तक उसे चीनी और नमक देना ही नहीं चाहिए। 1 साल तक चीनी या नमक बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है। इनके सेवन से उसकी सेहत को कई तरह के नुकसान पहुंच सकते हैं। बच्चे की जरूरतें मां के दूध से ही पूरी हो जाती हैं। जानते हैं बच्चों को नमक या चीनी क्यों नहीं देनी चाहिए? जानें 5 कारण ।

youtube-cover

बच्चों को नमक या चीनी क्यों नहीं देनी चाहिए? जानें 5 कारण : Why No Suagr And Salt For Baby In Hindi

ब्रिटल बोन का खतरा - नमक का अधिक सेवन करने से बच्चों की हड्डियों को नुकासन होता है। इससे शरीर में कैल्शियम की कमी देखने को मिल सकती है। अगर शरीर में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम नहीं होगा तो हड्डियां कमजोर होनी शुरू हो सकती हैं। इसके साथ ही बच्चों को चीनी इसलिए नहीं देना चाहिए क्योंकि चीनी में कई ऐसे कैमिकल्स मिले होते हैं जो बच्चों के दांतों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। आप बच्चों को फल का सेवन करा सकते हैं। फलों में आमतौर पर इतना प्राकृतिक शुगर होता है कि जो बच्चों का टेस्ट बदलने के लिए काफी है।

डिहाइड्रेशन का खतरा - अगर अधिक मात्रा में नमक का सेवन करते हैं तो इससे डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। इससे शरीर का पानी पसीने या पेशाब के रूप में बाहर निकलता रहता है। छोटे बच्चे खुद से बोल कर नहीं बता सकते हैं कि उन्हें प्यास लगी है इसलिए उनके शरीर में पानी की कमी हो सकती है।

हाई ब्लड प्रेशर की समस्या - अधिक नमक के सेवन से ब्लड में बीपी लेवल high blood pressure बढ़ जाता है और इससे हाइपर टेंशन की समस्या हो सकती है वह भी काफी छोटी उम्र में। इसलिए बच्चों को नमक और चीनी नहीं देना चाहिए।

किडनी स्टोन की समस्या - शरीर में अधिक सोडियम sodium के कारण पेशाब में अधिक कैल्शियम निकलता है। यह कैल्शियम किडनी में पथरी उत्पन्न कर सकता है। इसलिए 1 साल से छोटे बच्चों को नमक और चीनी का सेवन नहीं कराना चाहिए।

किडनी को प्रभावित करता है - बच्चों को अधिक मात्रा में नमक देने से किडनी में सोडियम को प्रोसेस नहीं कर पाती और यह शरीर से फिल्टर नहीं हो पाता। यह बच्चों की किडनी को काफी प्रभावित कर सकता है और कम उम्र में ही उनमें किडनी से जुड़ी बीमारियां देखने को मिलने लगती हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment