Create
Notifications

क्रो पोज के 4 फायदे- Crow Pose ke 4 fayde

जानिए क्रो पोज के 4 बेहतरीन फायदे
जानिए क्रो पोज के 4 बेहतरीन फायदे
Ritu Raj

योग या एक्सरसाइज अगर हम नियमित रूप से करते हैं तो कई सारी समस्याओं से बचे रहते हैं। हमारा शरीर फिट रहता है। शरीर में ऊर्जावान बनी रहती है। योग के बारे में बात करें तो इसके फायदे अनेक हैं। एक योग करने से शरीर के कई सारे हिस्सों को लाभ मिलता है। जिसमें से एक है क्रो पोज जो हमें कई सारे लाभ पहुंचाता है। इस आसन के करने से कमर के निचले हिस्से में आई सूजन, घुटनों के दर्द, कमर में जकड़न के अलावा कई अन्य समस्याओं को ठीक करने में मदद करता है। इसके साथ ही इस योग को करने से पेट के आस-पास की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और घुटने में दर्द की समस्या से राहत मिलता है।

क्रो पोज के 4 फायदे

1- सूजन (Reducing Inflammation) क्रो पोज सूजन कम करने में काफी सहायक माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि, आसन घुटनों के बल पर होता है जिसके चलते सारा जोर घुटनों पर पड़ता है जिसकी वजह से घुटनों में आई सूजन आसानी से दूर हो जाती है। इसके साथ ही जांघों के आस-पास की मांसपेशियों में स्ट्रेंथ आती है।

2- कम वजन (Helps in Weight Loss) क्रो पोज योग की मदद से वजन को भी घटाया जा सकता है। इसके करने से पेट और इसके आसपास की मांसपेशियों पर ज्यादा जोर पड़ता है जिसके चलते यहां जमा अधिक चर्बी बर्न होने लगती हैं और मोटापे से छुटकारा मिलने लगता है। इसके लिए रोजाना कम से कम 10 मिनट ये योगाभ्यास करना चाहिए। ये योग एक तरह से स्ट्रेच भी है जिसके चलते स्पाइन का ब्लड फ्लो में सुधार होता है।

3- ब्लड फ्लो (Increases Blood Flow) बीमारियों से बचने और स्वास्थ्य रहने के लिए शरीर के हर एक अंग में रक्त पहुंचना बेहद जरूरी है। इसके लिए क्रो पोज काफी मदद करता है। क्रो पोज करने से शरीर के विभिन्न हिस्सों में रक्त का बहाव सुचारू रूप से होता है। स्पाइन और एबडोमन के आस-पास के हिस्सों में रक्त का प्रवाह सुचारू रूप से होता है। इसके साथ ही हिप्स की मांसपेशियों को भी मजबूती मिलती है। ऐसे में इस योग को नियमित रूप से करने से लाभ मिलता है।

4- शरीर को ऊर्जावान बनाए (Provides Energy) जब क्रोज पोज आसन करते हैं तो इस दौरान मनिपुरा चक्र सक्रिय हो जाता है, जिसके चलते शरीर में ऊर्जा का संचार होता है। इसके साथ ही ये योह मन में सकारात्मकता नहीं आने देता। कंसंट्रेशन पावर को बढ़ाता है। इस योग के जरिए शरीर में मानसिक और शारीरिक रूप से संतुलन को बनाए रखे जा सकता है। तनाव भी कम होता है। हालांकि, इन सभी फायदों को लिए आपको नियमित रूप से इस योग को करना होगा।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj

Comments

Fetching more content...