Create

रोजाना एक लौंग लहसुन खाने के फायदे - Rojana Ek Laung Lehsun Khane ke Fayde

रोजाना एक लौंग लहसुन खाने के फायदे
रोजाना एक लौंग लहसुन खाने के फायदे

हमारे शरीर के स्वास्थ्य के लिए बेहद भी लाभदायक होते हैं। इन दोनों में विटामिन-सी, सेलेनियम, एंटीऑक्सीडेंट, कैल्शियम, फाइबर के साथ ही कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं। जो हमें कई बीमारियों से सुरक्षित रखते हैं। लहसुन हमारे ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है और साथ ही दिल को भी सही रखता है। अगर नियमित रूप से इन दोनों का सेवन करें तो हमारे सेहत के लिए ये काफी अच्छा साबित होंगे।

रोजाना एक लौंग लहसुन खाने के फायदे

संक्रमण से बचाएं (protect against infection)

लहसुन और लौंग में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और जीवाणुनाशक हमारे शरीर में वायरस, फंगस, बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। इसके साथ ही ये कई अन्य बीमारियों से हमें बचाने में मदद करते हैं। जो लोग जल्दी बीमार होते हैं उन्हें इसका नियमित रूप से सेवन करना चाहिए।

नियंत्रित रहेगा कोलेस्ट्रॉल (controls cholesterol)

नियमित रूप से लहसुन और लौंग के सेवन से खून में शुगर की मात्रा कंट्रोल रहती है। इसके साथ ही इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने नहीं देता है। इसके लिए लहसुन और लौंग को भूनकर रोज खाना होगा।

इम्यूनिटी को बढ़ाए (clove of garlic boost immunity)

जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है उनके लिए लहसुन और लौंग बेहद ही फायदेमंद है। अगर आप नियमित रूप से इसका सेवन करते हैं तो शरीर में ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है। साथ ही इम्युनिटी स्ट्रांग होगा और एक्स्ट्रा तरल पदार्थ को भी बाहर निकालने में मदद करता है।

डिटॉक्सीफाई (Eating clove garlic detoxifies the body)

लहसुन और लौंग दोनों में ही एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो हमारे शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल बॉडी को डिटॉक्सिफाई करता है।

मजबूत होंगी हड्डियां (For strong bones)

लहसुन और लौंग के सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं। क्योंकि, इन दोनों में ही कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन सी और फाइबर की मात्रा भरपूर होती है जो, हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। इसके साथ ही इसके सेवन से शरीर में दर्द और सूजन भी कम होते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment