Create

पिसे हुए बादाम के फायदे- Pise Huye Badam Ke Fayde

ये है पिसे हुए बादाम के चमत्कारी फायदे
ये है पिसे हुए बादाम के चमत्कारी फायदे

Benefits of Ground Almonds in hindi: बादाम खाने से फायदे अनेक हैं। बादाम फाइबर और ओमेगा 3 से भरपूर होता है। सूखे हुए बादाम के मुकाबले भीगे हुए बादाम ज्यादा सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। क्योंकि, ये आसानी से बच जाते हैं और भीगे हुए बादाम से शरीर न्यूट्रिशन ज्यादा जल्दी ग्रहण कर लेती है। साथ ही बादाम को अगर उसकी बाहरी परत के बिना खाया जाया यानी छिल कर तो इसका फायदा और भी पढ़ जाता है। ऐसे इसलिए क्योंकि, बादाम का बाहरी परत में एक एंजाइम अवरोधक होता है। जो पाचन प्रक्रिया और अवशोषण को प्रभावित करता है। इसके साथ ही बादाम को पीसकर भी सेवन किया जाता है। इसके भी अनेक फायदे हैं। पिसे हुए बादाम के सेवन से पाचन क्रिया मजबूत होने के साथ ही कई अन्य फायदे मिलते हैं।

पिसे हुए बादाम के फायदे

- बच्चों को हर दिन 2-3 बादाम पीसकर खिलाना चाहिए। इससे दिमाग तेज होता

- पिसे हुए बादाम के सेवन से कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रण में रहता है।

- ब्लड शुगर को भी बढ़ने नहीं देता है।

- पिसे हुए बादाम के सेवन से ह्रदय रोग के होने का खतरा कम हो जाता है।

- बादाम के सेवन से मधुमेह होने की संभावना बहुत हद तक काम हो जाती है।

- वजन नियंत्रित रहता है।

- रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

- बादाम सेवन से पेट संबंधी बीमारियों को खतरा कम हो जाता है।

- पाचन तंत्र ठीक रहता है।

हड्डियां रहती हैं मजबूत (bones stay strong)

बादाम को पीसकर दूध में डालकर पीने से शरीर को काफी अच्छे मात्रा में कैल्शियम मिलता है। जो हमारी हड्डियों की मजबूती के लिए वरदान समान है।

दिल को बनाए तंदुरुस्त (keep heart healthy)

बादाम को पीसकर दूध में मिलाकर पीने से दिल तंदरूस्त रहता है। इसमें पॉविअनसेचुरैटिड फैटी एसिड होता है जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा बादाम के दूध में विटामिन ई पाया जाता है जो दिल को स्वस्थ रखता है।

आंखें के स्वास्थ्य के लिए बादाम (Almonds for Healthy Eyes)

बच्चों को नियमित रूप से बादाम को पीसकर दूध में मिलाकर देने से उनकी आंखों की रोशनी ठीक रहती है। इसमें विटामिन ई के साथ कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस व आंखों की बीमारियों जैसे मोतियाबिंद आदि से लड़ने में सक्षम होते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment