सर्दियों में कैरेट मिल्क (carrot milk) पीने के फायदे और बनाने का सही तरीका

सर्दियों में कैरेट मिल्क (carrot milk) पीने के फायदे और बनाने का सही तरीका (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
सर्दियों में कैरेट मिल्क (carrot milk) पीने के फायदे और बनाने का सही तरीका (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

गाजर का दूध, एक आनंददायक और पौष्टिक मिश्रण है, जो दूध की प्रचुरता के साथ गाजर की पौष्टिक अच्छाइयों को जोड़ता है। विशेष रूप से सर्दियों में, यह पेय आवश्यक पोषक तत्वों के पावरहाउस के रूप में कार्य करता है और कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। इसकी तैयारी सरल है, जो इसे ठंड के महीनों के दौरान गर्म और पौष्टिक पेय के लिए एक आदर्श विकल्प बनाती है।

सर्दियों में कैरेट मिल्क (carrot milk) पीने के फायदे और बनाने का सही तरीका (Benefits of drinking carrot milk in winter and the right way to make it in hindi)

सर्दियों में गाजर का दूध पीने के फायदे

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है: गाजर का दूध बीटा-कैरोटीन से भरपूर होता है, जो विटामिन ए का अग्रदूत है, जो अपनी प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले गुणों के लिए जाना जाता है। सर्दी के मौसम में जब सर्दी-जुकाम बहुत होता है, यह पोषक तत्व शरीर की रक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करता है।

दृष्टि में सुधार: बीटा-कैरोटीन की उच्च सामग्री के कारण गाजर अपने दृष्टि-बढ़ाने वाले गुणों के लिए प्रसिद्ध है। नियमित रूप से गाजर के दूध का सेवन आंखों के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकता है, खासकर शुष्क सर्दियों के महीनों में।

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर: गाजर में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो मुक्त कणों से लड़ते हैं, शरीर को ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाने में मदद करते हैं। दूध कैल्शियम और प्रोटीन जैसे आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करके, समग्र एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव को बढ़ाकर इसे पूरा करता है।

हाइड्रेटिंग और वार्मिंग: सर्दियों में, हाइड्रेटेड रहना महत्वपूर्ण है और गाजर का दूध एक हाइड्रेटिंग विकल्प प्रदान करता है जो शरीर को गर्म भी करता है। गाजर की अंतर्निहित गर्मी के साथ दूध का मिश्रण इसे ठंड से बचाने के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प बनाता है।

त्वचा के स्वास्थ्य में सहायता: गाजर में मौजूद विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट स्वस्थ त्वचा में योगदान करते हैं। गाजर का दूध पीने से शुष्कता से निपटने और चमकदार रंगत बनाए रखने में मदद मिल सकती है, जो सर्दियों के शुष्क मौसम में प्रभावित होती है।

गाजर का दूध बनाने का सही तरीका

सामग्री:

2-3 मध्यम आकार की गाजर

2 कप दूध (डेयरी या पौधे आधारित)

स्वीटनर (वैकल्पिक) जैसे शहद या चीनी

मसाले (वैकल्पिक) जैसे दालचीनी या जायफल

स्टेप्स:

1. गाजर को धोकर छील लीजिये. आसानी से मिश्रण करने के लिए उन्हें छोटे टुकड़ों में काट लें।

2. एक ब्लेंडर में कटी हुई गाजर और दूध मिलाएं। कोमल होने तक मिश्रित करें।

3. मिश्रण को एक सॉस पैन में डालें और मध्यम आंच पर गर्म करें। जलने से बचाने के लिए बीच-बीच में हिलाएँ।

4. यदि चाहें तो स्वाद के अनुसार समायोजित करते हुए स्वीटनर या मसाले डालें।

5. एक बार गर्म हो जाने पर, स्टोव से हटा दें और किसी भी गूदे को निकालने के लिए मिश्रण को एक बारीक छलनी या चीज़क्लोथ का उपयोग करके छान लें।

6. गर्म गाजर के दूध को मग में परोसें और इसकी आरामदायक अच्छाई का आनंद लें।

गाजर के दूध को अपनी सर्दियों की दिनचर्या में शामिल करने से न केवल गर्मी मिलती है बल्कि कई स्वास्थ्य लाभ भी मिलते हैं। इसकी तैयारी में सरलता और स्वादिष्ट स्वाद इसे आपके शरीर को पोषण देने के साथ-साथ ठंड से लड़ने के लिए एक आनंददायक अतिरिक्त बनाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar