Create

हरा धनिया के फायदे - Hara Dhaniya ke fayde

हरा धनिया के फायदे जान रह जाएंगे हैरान
हरा धनिया के फायदे जान रह जाएंगे हैरान

किसी भी डिश की महक और स्वाद को बढ़ाने के लिए हरे धनिए का खूब इस्तेमाल किया जाता है। हरा धनिया डालने से आपकी हर डिश बहुत ही टेम्पटिंग लगती है। धनिये के पत्ते और धनिया के बीज का उपयोग हर रसोई में किया जाता है। बहुत ही कम लोगों को पता है कि ये जितना स्वाद बढ़ाने में काम आती है उससे कहीं ज्यादा स्वास्थ्य (Hara Dhaniya Khane ke Fayde) के लिए फायदेमंद है। ये एक औषधीय पौधा है। जिसमें एंटी-माइक्रोबियल व एंटीऑक्सीडेंट समेत एंटी इंफ्लेमेटरी (सूजन कम करने वाला), एंटी-डिस्लिपिडेमिया (रक्त में लिपिड कम करने वाला), एंटी-हाइपरटेंसिव (रक्तचाप कम करने वाला), न्यूरोप्रोटेक्टिव (तंत्रिका को सुरक्षा देने वाला) और मूत्रवर्धक जैसे गुण होते हैं।

हरा धनिया के फायदे - Hara Dhaniya ke fayde in Hindi

प्रतिरोधक क्षमता (Immunity is better by eating green coriander)

धनिया के पत्तों का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद मिलती है। एक शोध की मानें तो धनिया के पत्ते के इथेनॉल अर्क में कई फ्लेवोनोइड यौगिक होते हैं जो, इम्यूनोमॉड्यूलेटर की तरह काम करते हैं, जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार हो सकता है।

स्वस्थ हृदय (Benefits of coriander leaves for a healthy heart)

कई रिसर्च में पाया गया है कि धनिया के पत्तों में क्वेरसेटिन नामक कंपाउंड के साथ अन्य फ्लेवोनोइड्स पाए जाते हैं। ये कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (हानिकारक एलडीएल) के स्तर को कम करने के साथ ही हृदय के स्वास्थ्य को बढ़ाने में लाभकारी हो सकते हैं।

मधुमेह (Benefits of coriander leaves in diabetes)

मधुमेह को नियंत्रण में करने के लिए धनिया काफी मदद कर सकती है। इसके पत्तों में एंटीडायबिटिक यानी ब्लड शुगर को कम करने वाला गुण होते हैं। इसके अलावा एंटीडायबिटिक गुण के कारण पैंक्रियाज सेल्स (अग्न्याशय) में इंसुलिन का प्रवाह बढ़ सकता है। ऐसे में मधुमेह को नियंत्रण में करने के लिए धनिया का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है।

पाचन तंत्र (green coriander for good digestive system)

पाचन तंत्र को ठीक करने के लिए हरा धनिया का सेवन करना काफी फायदेमंद हो सकता है। इसमें लिनालूल नामक कंपाउंड पाया जाता है, जो कार्मिनेटिव (पेट फूलने से राहत देने वाली दवा) की तरह काम करता है।

प्यास लगने की समस्या (Green coriander removes the problem of thirst)

जिन्हें बार-बार प्यास लगने की समस्या है उन्हें हरे धनिए का सेवन करना चाहिए। धनिया के पत्तों का रस या जूस पीने से प्यास कम लगती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment