Create
Notifications

इसबगोल और मिश्री के फायदे : Isabgol Aur Mishri Ke Fayde

इसबगोल और मिश्री के फायदे (फोटो- ayur times) इसबगोल
इसबगोल और मिश्री के फायदे (फोटो- ayur times) इसबगोल
Naina Chauhan
ANALYST

चीनी के अनरिफाइंड रूप को ही मिश्री जिसे मुख्य रूप से गन्ने और खजूर के रस से तैयार किया जाता है। चीनी के अनरिफाइंड रूप को ही मिश्री कहा जाता है। लेकिन मिश्री में चीनी के मुकाबले कम मिठास होती है। वहीं इसबगोल में भरपूर मात्रा में फाइबर होने के कारण कब्ज से राहत दिलाने के लिए जाना जाता है। लेकिन इसबगोल के कई और फायदे भी हैं जिन्हें जाकर आप भी इसे जरूर खाना चाहेंगे। जानते हैं क्या है इन दोनों चीजों के लाभ।

मिश्री के फायदे - Mishri Ke Fayde In Hindi

वजन को नियंत्रित करे - जो लोग अपने बढ़ते वजन से परेशान रहते हैं उनके लिए मिश्री का उपयोग लाभदायक सिद्ध हो सकता है। मिश्री को सौंफ के साथ पीसकर तैयार पाउडर में से एक चम्मच नियमित इस्तेमाल करने से बढ़ते हुए वजन को नियंत्रित किया जा सकता है।

एनीमिया में लाभदायक - एनीमिया जैसी गंभीर समस्या से राहत दिलाने में मिश्री काफी लाभकारी साबित हो सकती है। एनीमिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली कई आयुर्वेदिक दवाओं में भी मिश्री का प्रयोग किया जाता है।

एनर्जी के लिए - मिश्री चीनी का अनरिफाइंड रूप है। इस कारण चीनी में पाए जाने वाले सुक्रोज की अच्छी मात्रा मिश्री में भी उपलब्ध होती है। यह शरीर को तुरंत ऊर्जा देने का काम करता है।

इसबगोल के फायदे - Isabgol Ke Fayde In Hindi

डायबिटीज के मरीजों के लिए - जिन लोगों को शुगर की समस्या है उनके लिए इसबगोल लाभकारी है, क्योंकि इसमें जिलेटिन पाया जाता है जो शरीर में ग्लूकोज के विघटन और अवशोषण की प्रक्रिया को धीमी करती है।

कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए - पेट से जुड़ी तमाम दिक्कतें सिर्फ कब्ज़ की समस्या के कारण ही होती हैं, इसलिए कब्ज की समस्या से बचने के लिए इसबगोल का सेवन करना चाहिए।

दस्त रोकने के लिए - अगर किसी भी व्यक्ति को दस्त की समस्या हो रही है तो, इसकी वजह से शरीर टूट जाता है। ऐसे में दस्त को रोकने के लिए इसबगोल पीना चाहिए। इससे तुरंत आराम मिलता है।

इसबगोल और मिश्री के गुण - isabgol Aur Mishri Ke Gun In Hindi

इसबगोल को अक्सर गर्मी, प्यास, गर्मी के बुखार,जीभ की खरखराहट और खून के रोगों को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह आंतों के घाव, आंव और मरोड़ में लाभदायक होता है। इसबगोल को भूनकर खाने से दस्त की परेशानी दूर होती है। वहीं मिश्री का अपना एक खास महत्व है। मिश्री की मिठास मन के साथ-साथ दिमाग को भी खुश कर देती है। इसका इस्तेमाल डाइजेशन, आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए, तनाव से राहत दिलाती है,इसके साथ-साथ कई अन्य लाभ भी मिलते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now