Create
Notifications

इमली के पत्ते के फायदे- Imli ke patto ke fayde

इमली के पत्ते के फायदे(फोटो:Lybrate.com)
इमली के पत्ते के फायदे(फोटो:Lybrate.com)
Ritu Raj
ANALYST

इमली अपने खट्टे-मीठे स्वाद के लिए जानी जाती है, जिसका उपयोग कई तरह के पकवानों का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। औषधीय गुणों से भरपूर इमली हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होती हैं। इमली के अलावा इसकी पत्तियां भी हमारे शरीर के लिए कई तरह से लाभकारी होती हैं। शरीर से जुड़ी ऐसी कई समस्याएं हैं जिनमें इमली की पत्तियों को इस्तेमाल किया जाता है। इमली की पत्तियों में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। इमली की पत्तियों से निकला हुए रस अगर किसी घाव पर लगाया जाए तो वह तेजी से ठीक होता है। इससे पत्तों का रस किसी भी अन्य संक्रमण और परजीवी विकास को रोकता है। साथ ही नई कोशिकाओं का निर्माण भी तेजी से करता है।

इमली के पत्तियों के फायदे Benefits of Tamarind Leaves in Hindi

मलेरिया (Benefits of Tamarind Leaves in Malaria)

इमली के पौधे का प्रत्येक भाग जड़ से लेकर पत्ते तक सभी पोषक तत्वों से समृद्ध होते हैं, जो हमारे शरीर के लिए काफी लाभकारी होते हैं। एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि इसके पत्तों का इस्तेमाल मलेरिया के इलाज में किया जा सकता है।

पीलिया और मधुमेह (Tamarind Leaves in jaundice and diabetes)

पीलिया और मधुमेह की समस्या में इमली के पत्ते काफी लाभकारी साबित हो सकते हैं। पीलिया की समस्या में इमली के पत्तों का काढ़ा बनाकर पीने से काफी लाभ मिलता है। इसके साथ ही इमली के पत्तों का उपयोग रक्त शर्करा को कम करने वाली दवा में किया जाता है। ऐसे में मधुमेह की समस्या में इसके पत्ते शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मदद कर सकते हैं।

स्कर्वी से बचाव (Tamarind Leaves protection against scurvy)

स्कर्वी विटामिन-सी यानी एस्कॉर्बिक एसिड की कमी से होने वाली गंभीर बीमारी है। इमली के पत्तों में विटामिन-सी से युक्त खाद्य पदार्थ भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जिसे, स्कर्वी के उपचार में सहायक माना जा सकता है।

घाव भरने के लिए (Tamarind Leaves for Wound)

अगर घाव जल्दी नहीं भर रहे हैं तो ऐसे में इमली के पत्तों का इस्तेमाल करना चाहिए। एक रिसर्च में यह बात सामने आ चुकी है कि, घाव को भरने के लिए इमली के पत्तों और छाल दोनों का उपयोग लेप के रूप में किया जा सकता है। इससे घाव को भरने में कुछ हद तक मदद मिल सकती है।

दस्त और पेट संबंधी समस्या (Tamarind Leaves Useful in diarrhea and stomach problems)

दस्त की समस्या में भी इमली के पत्तों का उपयोग किया जाता है इसके साथ ही मल को ढीला करने में भी इमली के पत्ते काफी लाभकारी होते हैं। इमली के पत्तों को अगर पानी में डालकर पिया जाए तो इससे पेट खराब होने की समस्या से भी राहत मिल सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now