Nerve blockage में kali kishmish, chia seeds और flax seeds का करें सेवन, मिलेंगे 6 फायदे

Nerve blockage में kali kishmish, chia seeds और flax seeds का करें सेवन, मिलेंगे 6 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
Nerve blockage में kali kishmish, chia seeds और flax seeds का करें सेवन, मिलेंगे 6 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

काली किशमिश, चिया के बीज और अलसी के बीजों के संयोजन का सेवन तंत्रिका अवरोध के लिए कई लाभ प्रदान कर सकता है। ये प्राकृतिक अवयव आवश्यक पोषक तत्वों से भरे होते हैं और पारंपरिक रूप से उनके स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले गुणों के लिए उपयोग किए जाते रहे हैं। यहां 6 प्रमुख बिंदु दिए गए हैं जो बताते हैं कि ये सामग्रियां कैसे फायदेमंद हो सकती हैं:-

Nerve blockage में kali kishmish, chia seeds और flax seeds का करें सेवन, मिलेंगे 6 फायदे (Black Raisins, Chia Seeds And Flax Seeds for Nerve Blockage In Hindi)

एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण: काली किशमिश, चिया सीड्स और फ्लैक्स सीड्स में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो शरीर में सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। तंत्रिका रुकावट की स्थिति में, सूजन दर्द और परेशानी में योगदान कर सकती है, इसलिए इन सामग्रियों का सेवन करने से लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है।

ओमेगा-3 फैटी एसिड: चिया के बीज और अलसी के बीज ओमेगा-3 फैटी एसिड, विशेष रूप से अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (ALA) से भरपूर होते हैं। ओमेगा -3 फैटी एसिड में सूजन-रोधी प्रभाव दिखाया गया है और यह तंत्रिका स्वास्थ्य का समर्थन कर सकता है। वे तंत्रिका सूजन को कम करने और तंत्रिका कार्य में सुधार करने में मदद कर सकते हैं, जो तंत्रिका अवरोध के मामलों में फायदेमंद हो सकता है।

फाइबर सामग्री: चिया के बीज और अलसी के बीज आहार फाइबर के उत्कृष्ट स्रोत हैं। फाइबर स्वस्थ पाचन को बनाए रखने और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह कब्ज को रोकने और आंत्र नियमितता को बढ़ावा देने में भी मदद कर सकता है। समग्र स्वास्थ्य के लिए अच्छा पाचन स्वास्थ्य आवश्यक है और अप्रत्यक्ष रूप से तंत्रिका स्वास्थ्य का समर्थन कर सकता है।

एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि: काली किशमिश, चिया के बीज और अलसी के बीज एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते हैं, जैसे कि फेनोलिक यौगिक और विटामिन ई। एंटीऑक्सिडेंट कोशिकाओं को ऑक्सीडेटिव तनाव और मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करते हैं। ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करके, ये अवयव तंत्रिका कार्य को बेहतर बनाने और तंत्रिका अवरोध की स्थिति में सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

आवश्यक खनिज: चिया के बीज और अलसी के बीज में मैग्नीशियम, कैल्शियम और फास्फोरस जैसे महत्वपूर्ण खनिज होते हैं, जो तंत्रिका कार्य और समग्र स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं। ये खनिज तंत्रिका संकेतन में भूमिका निभाते हैं और उचित तंत्रिका संचरण को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

पोषक तत्व घनत्व: काली किशमिश, चिया के बीज, और अलसी के बीज पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ हैं, जिसका अर्थ है कि वे आवश्यक विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करते हैं। इन सामग्रियों को अपने आहार में शामिल करके, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपको विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व मिल रहे हैं जो तंत्रिका स्वास्थ्य सहित समग्र स्वास्थ्य का समर्थन करते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now