Create
Notifications

शरीर में पानी की कमी के लक्षण-Body Me Pani Ki Kami Ke Lakshan

शरीर में पानी की कमी के लक्षण (फोटो-Sportskeeda hindi)
शरीर में पानी की कमी के लक्षण (फोटो-Sportskeeda hindi)
Rakshita Srivastava
visit

एक अच्छे स्वास्थ्य के लिए जितना जरूरी पौष्टिक आहार लेना होता है, उससे ज्यादा जरूरी भरपूर मात्रा में पानी पीना होता है। मौसम चाहे गर्मी का हो या सर्दी का पानी भरपूर मात्रा में ही पीना चाहिए। पानी न पीने की वजह से कई तरह की बड़ी बीमारियां हो सकती है। शरीर के सभी अंगों को ठीक तरह से काम करने के लिए पानी बहुत जरूरी होता है। इसलिए एक बार को आप बिना खाएं कुछ दिन तक जीवित रह सकते हैं, लेकिन बिना पानी पिएं जीवित नहीं रह सकते हैं।

शरीर में पानी की कमी के लक्षण ( Body Me Pani Ki Kami Ke Lakshan In Hindi)

यूरिन का रंग पीला होना

अगर आपके शरीर में पानी की कमी होगी, तो आपके यूरिन (Urine) का रंग पीला रहेगा। यूरिन के रंग बदलने का मतलब होता है, कि शरीर में पानी की काफी कमी है।

पेट में दर्द और जलन होना

अगर कोई व्यक्ति पानी की मात्रा कम लेता है, तो उसकी पाचन शक्ति (Digestion) भी कमजोर होने लगती है। साथ ही अक्सर कर कुछ खा लेने पर पेट में दर्द (Stomach Pain) और जलन की शिकायत भी शुरू हो जाती है।

स्किन का ड्राई होना

पानी कम पीने से शरीर के साथ-साथ स्किन (Skin) पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। अगर किसी व्यक्ति के शरीर में पानी की कमी है, तो उसके चेहरे पर पिंपल्स (Pimples) की शिकायत होने लगती है। साथ ही स्किन भी ड्राई होने लगती है।

कमजोरी महसूस होना

शरीर में पानी की कमी होने पर आंखों के नीचे डार्क सर्कल (Dark Circle) की शिकायत हो जाती है। साथ ही उनको हर वक्त कमजोरी (Weakness) भी महसूस होने लगती है।

सिर में दर्द होना

जिन लोगों के शरीर में पानी की कमी होती है, उन लोगों को जोड़ों में दर्द या फिर अक्सर कर सिर में दर्द (Headache) की शिकायत भी हो सकती है।

होंठों का फटना

कम पानी पीने की वजह से होंठ भी ड्राई होने लगते हैं। अगर किसी के होंठ फटने लगें तो समझ लीजिए कि आप के शरीर में पानी की मात्रा कम हो रही है।

कितना पानी पीना चाहिए

वैसे तो पानी शरीर के हिसाब से पीना चाहिए। जो लोग वर्क आउट करते हैं, उनको अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए। लेकिन अगर बात करें एक सामान्य व्यक्ति की तो उसको रोजाना 12-14 गिलास पानी पीना चाहिए। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि शरीर में पानी की मात्रा ज्यादा भी न हो जाए। क्योंकि ज्यादा मात्रा में पानी भी शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Rakshita Srivastava
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now