Create

डायबिटीज में साबूदाना खाना चाहिए या नहीं-Diabetes mein saboodana khana chahiye ya nahin

डायबिटीज में साबूदाना खाना चाहिए या नहीं
डायबिटीज में साबूदाना खाना चाहिए या नहीं

डायबिटीज (Diabetes) एक गंभीर बीमारी है जिसका इलाज समय पर करना बेहद जरूरी होता है। सही समय पर इलाज ना होने के कारण लोगों की मौत भी हो सकता है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को अपने खान पान का बहुत खास ध्यान रखने की सलाह दी जाती है। डायबिटीज के मरीजों के डाइट में हल्का भी चूक बहुत महंगा पड़ सकता है। डायबिटीज को जड़ से खत्म तो नहीं किया जा सकता है लेकिन इसे कंट्रोल जरूर किया जा सकता है। डायबिटीज के मरीजों को ऐसी चीजों का सेवन करने की सलाह दी जाती है जिससे ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) कंट्रोल में रहे। ऐसे में क्या साबूदाना डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है। इसी कड़ी में आज हम जानेंगे कि डायबिटीज में साबूदाना (Sago) खाना चाहिए या नहीं।

साबूदाना को हेल्दी फूड माना जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर और कैल्शियम पाया जाता है। इसका सेवन करने से शरीर को एनर्जी (Energy) मिलती है। साबूदाना सेहत को कई तरह के फायदे पहुंचाता है। साबूदाना का सेवन करने से पेट से जुड़ी कई तरह की समस्याएं जैसे कब्ज (Constipation) से निजात पाया जा सकता है। साथ ही इसके सेवन से वजन को भी कंट्रोल किया जा सकता है। डायबिटीज के मरीजों को वजन कंट्रोल में रखने की बहुत जरूरत होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं गुणों का खजाना होने के बावजूद डायबिटीज के मरीजों को इसका ज्यादा सेवन करने से बचने की सलाह दी जाती है।

दरअसल, टैपिओका (tapioca) रूट से निकलने वाले स्टार्च को प्रोसेस्ड कर इसे छोटे-छोटे ट्रांसपेरेंट बॉल्स के रूप में बनाया जाता है, जिसे साबूदाना कहते हैं। इसमें स्टार्च होने की वजह से इसे डायबिटीज के मरीजों को सेवन ना करने की सलाह दी जाती है। स्टार्च वाले फूड्स डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत हानिकारक माने जाते हैं।

वहीं साबूदाना का इसिमिक इंडेक्स भी अधिक होता है जो ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा देता है। ऐसे में डायबिटीज के मरीजों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए। बता दें कि डायबिटीज के मरीजों को उन फूड्स का सेवन करना चाहिए जिसका ग्लाइसिमिक इंडेक्स 55 से कम हो।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment