पैर सुन्न होने के कारण और 10 घरेलू उपचार

पैर सुन्न होने के कारण और 10 घरेलू उपचारर (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
पैर सुन्न होने के कारण और 10 घरेलू उपचारर (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

पैरों में सुन्नता, जिसे पेरेस्टेसिया भी कहा जाता है, विभिन्न अंतर्निहित कारणों से उत्पन्न हो सकती है और इसके साथ झुनझुनी, जलन या संवेदना की हानि भी हो सकती है। उचित प्रबंधन के लिए कारण की पहचान करना महत्वपूर्ण है। यहां पैरों में सुन्नता के कुछ सामान्य कारण और घरेलू उपचार दिए गए हैं:-

पैर सुन्न होने के कारण और 10 घरेलू उपचार (Causes and 10 Home Remedies For Numbness In Feet In Hindi)

कारण:-

परिधीय न्यूरोपैथी: अक्सर मधुमेह के कारण होने वाली यह स्थिति तंत्रिकाओं को नुकसान पहुंचाती है, जिससे पैरों में सुन्नता और झुनझुनी होती है।

खराब परिसंचरण: एथेरोस्क्लेरोसिस जैसी स्थितियां रक्त के प्रवाह को चरम तक सीमित कर सकती हैं, जिससे सुन्नता हो सकती है।

नसों का संपीड़न: हर्नियेटेड डिस्क या कटिस्नायुशूल जैसी स्थितियां नसों पर दबाव डाल सकती हैं, जिससे सुन्नता हो सकती है।

विटामिन की कमी: बी12 और फोलेट जैसे विटामिन की कमी तंत्रिका कार्य को प्रभावित कर सकती है और सुन्नता का कारण बन सकती है।

जूते और मुद्रा: खराब फिटिंग वाले जूते या खराब मुद्रा के कारण नसों पर लंबे समय तक दबाव अस्थायी सुन्नता का कारण बन सकता है।

अत्यधिक शराब का सेवन: शराब का सेवन तंत्रिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है, जिससे परिधीय न्यूरोपैथी और सुन्नता हो सकती है।

चोटें: आघात या बार-बार होने वाली तनाव की चोटें तंत्रिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती हैं और सुन्नता पैदा कर सकती हैं।

घरेलू उपचार:-

रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखें: यदि मधुमेह है, तो परिधीय न्यूरोपैथी को रोकने के लिए रक्त शर्करा के स्तर की बारीकी से निगरानी करें और उसका प्रबंधन करें।

नियमित व्यायाम करें: परिसंचरण और तंत्रिका स्वास्थ्य में सुधार के लिए शारीरिक गतिविधि में संलग्न रहें।

स्वस्थ आहार: तंत्रिका कार्य को समर्थन देने के लिए विटामिन और खनिजों से भरपूर संतुलित आहार का सेवन करें।

उचित जूते: तंत्रिका संपीड़न को रोकने के लिए अच्छी फिटिंग वाले, आरामदायक जूते पहनें।

पैरों की देखभाल: शुष्क त्वचा और संभावित तंत्रिका क्षति को रोकने के लिए पैरों की अच्छी स्वच्छता और मॉइस्चराइज़र का अभ्यास करें।

स्ट्रेचिंग: पैर और पिंडली को हल्का सा स्ट्रेच करने से नसों पर दबाव कम हो सकता है और रक्त प्रवाह बढ़ सकता है।

गर्म स्नान: पैरों को गर्म पानी में भिगोने से आराम मिल सकता है और परिसंचरण में सुधार हो सकता है।

मालिश: पैरों की हल्की मालिश रक्त प्रवाह को उत्तेजित कर सकती है और असुविधा को कम कर सकती है।

विटामिन की खुराक: विटामिन की कमी को दूर करने के लिए खुराक लेने से पहले किसी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श लें।

तनाव प्रबंधन: तनाव लक्षणों को बढ़ा सकता है; गहरी साँस लेने और योग जैसी विश्राम तकनीकें मदद कर सकती हैं।

हालाँकि ये घरेलू उपचार राहत प्रदान कर सकते हैं, लेकिन लगातार या बिगड़ते लक्षणों के लिए चिकित्सकीय पेशेवर से परामर्श करना आवश्यक है। पैरों में सुन्नता के मूल कारण का पता लगाने और समग्र कल्याण सुनिश्चित करने के लिए उचित निदान और उपचार महत्वपूर्ण है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now