Create
Notifications

केवल चलने से हृदय संबंधी मौतों को कम किया जा सकता है : 50% Cardiovascular Deaths Can Be Reduced By The Help Of Just Walking

केवल चलने से 50% हृदय संबंधी मौतों को कम किया जा सकता है (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
केवल चलने से 50% हृदय संबंधी मौतों को कम किया जा सकता है (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar
visit

सप्ताह में केवल चार घंटे तक चलने से 65 से 74 उम्र के लोगों में दिल की बीमारियां कम हो सकती हैं। "स्टडी के अनुसार 65 वर्ष की उम्र वाले जो लोग फीजिकली एक्टिव रहते हैं उनमें दिल की बीमारी, स्ट्रोक, हाई कोलेस्ट्रोल, कार्डियोवास्कुलर बीमारी आदि का खतरा कम हो जाता है। जितना ज्यादा आप फीजिकली एक्टिव रहेंगे उतना ज्यादा आप बीमारियों से बचे रहेंगे।

चलना और दौड़ना दोनों ही कार्डियोवस्कुलर एक्सरसाइज के बेहतरीन रूप हैं। आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प पूरी तरह से आपकी फिटनेस और स्वास्थ्य लक्ष्यों पर निर्भर करता है। इस लेख में आप जान पाएंगे के की चलना कैसे कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ को समर्थन देता है।

केवल चलने से हृदय संबंधी मौतों को कम किया जा सकता है : 50% Cardiovascular Deaths Can Be Reduced By The Help Of Just Walking In Hindi

स्टडी के अनुसार 65 वर्ष की उम्र वाले जो लोग फीजिकली एक्टिव रहते हैं उनमें दिल की बीमारी, स्ट्रोक, हाई कोलेस्ट्रोल, कार्डियोवास्कुलर बीमारी आदि का खतरा कम हो जाता है। जितना ज्यादा आप फीजिकली एक्टिव रहेंगे उतना ज्यादा आप बीमारियों से बचे रहेंगे।

यह अध्ययन में 65 से 74 उम्र की 2,456 पुरुष और महिलाओं में किया गया है। इस अध्ययन में फीजिकल एक्टिविटी और दिल की बीमारी से जुड़े खतरों के बीच में संबंध देखा गया है। अध्ययनकर्ताओं ने देखा की जो लोग हफ्ते में रोजाना कुछ देर तक शारीरिक काम जैसे चलना या साइक्लिंग करते हैं उनमें दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम हुआ है। अध्ययन के निष्कर्ष में 54 से 66 फीसदी अभ्यर्थियों में दिल की बीमारियों का खतरा कम पाया गया।

ऐसे में अध्ययनकर्ताओं ने इस बात की पुष्टि की हफ्ते में कम से कम चार घंटे तक चलने या साइकलिंग करने से दिल की बीमारी का खतरा 50 फीसदी तक खम हो जाता है। चलने या साइक्लिंग के अलावा आप हल्के-फुल्के एक्सरसाइज जैसे बागवानी, फीशिंग या शिकार जैसे काम कर सकते हैं। यह अध्ययन परिणाम रोम में हुई यूरोपियन सोसाइटी ऑफ कार्डियोलॉजी कॉन्ग्रेस में प्रस्तुत की गई।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now