Create

छाती कम करने की 4 एक्सरसाइज- Chhati kam karne ki 4 Exercise

ये है छाती कम करने की 4 एक्सरसाइज
ये है छाती कम करने की 4 एक्सरसाइज

Chest Reduction Exercises: वैसे तो सारे व्यायाम शरीर के हर अंग के लिए फायदेमंद होते हैं लेकिन, कुछ ऐसे भी व्यायाम हैं जिसे करने से शरीर के किसी एक अंग को या कुछ ही अंगों को ज्यादा लाभ मिलता है। हम पैरों के लिए अलग एक्सरसाइज करते हैं, आर्म्स के लिए अलग, मसल्स के लिए अलग व्यायाम करते हैं। इसी तरह ब्रेस्ट के लिए भी कई एक्सरसाइज होते हैं जो आपके चेस्ट को कम कर अच्छे साइज में लाते हैं। दरअसल, महिलाओं की शारीरिक बनावट और दिखावट में स्तन से काफी फ़र्क पड़ता है। इससे आपकी सुंदरता निखर कर आती है। कई बार मोटापे या हार्मोन के कारण कुछ महिलाओं का ब्रेस्ट साइज काफी बढ़ जाता है। ऐसे में आप कुछ एक्सरसाइज को करके अपने छाती को कम कर और स्तन को सही शेप में ला सकती हैं।

छाती कम करने की 4 एक्सरसाइज

छाती कम करने के लिए सेतुबंध सर्वांगासन (Setu bandha to reduce chest)

सेतुबंध सर्वांगासन शरीर की मांसपेशियों के लिए बेहद ही फायदेमंद है। ब्रेस्ट साइज को कम करने के लिए इस योगासन का लाभ उठा सकती हैं। इसके साथ ही आपके पेट की मांसपेशियों मजबूत होगी और पाचन तंत्र सही बना रहेग। इस योग को कम से कम 2-3 बार करें और सुबह के वक्त करें तो ज्यादा लाभ मिलेगा।

धनुरासन (Dhanurasana Benefits for breast)

योग हमारे किसी एक हिस्से को नहीं बल्कि संपूर्ण शरीर को लाभ पहुंचाते हैं। धनुरासन करने से शरीर को कई सारे लाभ मिलते हैं। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। साथ ही आपके चेस्ट की मांसपेशियों और फेफड़ों के लिए भी बहुत उपयोगी है। इस योग के जरिए आप अपने शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल सकती हैं और साथ ही आपका हार्मोन संतुलन में रहेगा। ब्रेस्ट साइज कम करने के लिए सुबह के समय कम से कम 2-3 बार धनुरासन का अभ्यास करें तो काफी लाभ मिल सकता है।

ताड़ासन से शेप में आता है स्तन (Breasts come in shape with Tadasana)

ब्रेस्ट साइज को कम करने के लिए ताड़ासन काफी अच्छा योह माना गया है। इसके साथ ही शरीर की मांसपेशियां और हड्डियां भी मजबूत होती है। ये शरीर के पोश्चर और लंबाई को बढ़ाने के लिए भी उपयोगी माना गया है। ब्रेस्ट को शेप में लाने के लिए इस योग को नियमित रूप से करती हैं तो जल्द ही फायदा दिखने लगेगा।

शीर्षासन (shirshasana To bring the breast in shape)

शीर्षासन ब्रेस्ट साइज को कम करने के साथ ही शरीर में हार्मोन संतुलन बनाये रखने में मदद करता है। इस आसन के फायदे के बारे में बात करें तो शरीर में रक्त संचार सही ढंग से बना रहता है। साथ ही तंत्रिका तंत्र और रीढ़ की हड्डी के लिए भी ये योग फायदेमंद है। इस आसन में आपके पैर आसमान की ओर उठे होंगे और सिर नीचे होगा। यानी आप उल्टे होंगे।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment