Create
Notifications

चिकनगुनिया बुखार के लक्षणों की करें पहचान, अपनाएं ये 7 देसी इलाज : Chikungunya Symptoms And Remedies

चिकनगुनिया के लक्षण और देसी इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
चिकनगुनिया के लक्षण और देसी इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
Vineeta Kumar
visit

चिकनगुनिया (Chikungunya) चिकनगुनिया वायरस (CHIKV) के कारण होने वाला संक्रमण है। लक्षणों में बुखार और जोड़ों में दर्द शामिल हैं, ये आमतौर पर एक्सपोजर के 2 से 12 दिन बाद तक होते हैं। अन्य लक्षणों में सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में सूजन और चकत्ते शामिल हो सकते हैं। लक्षण आमतौर पर एक सप्ताह के भीतर सुधर जाते हैं; हालांकि, कभी-कभी जोड़ों का दर्द महीनों या साल तक रह सकता है। यह संक्रमण दिन में मच्चर के काटने से होता हैं। वैसे तो मच्चर किसी भी समय काट सकता हैं पर चिकनगुनिया का मच्चर केवल दिन में ही काटता हैं। इस लेख में आप चिकनगुनिया के लक्षण व इसके बचाव के लिए देसी इलाजों को जान पाएंगे।

चिकनगुनिया बुखार के लक्षणों की करें पहचान, अपनाएं ये 7 देसी इलाज : Chikungunya Symptoms And Remedies In Hindi

चिकनगुनिया के सबसे आम संकेत और लक्षण निम्नलिखित हैं: Symptoms Of Chikungunya In Hindi

  • बुखार (104 डिग्री फारेनहाइट के रूप में उच्च)
  • जोड़ों में दर्द और सूजन
  • सरदर्द,जुकाम और खांसी
  • मांसपेशियों में दर्द
  • लाल चकत्ते
  • जोड़ों के चारों ओर सूजन
  • आँखों में दर्द और कमजोरी
  • रौशनी से डर लगना
  • नींद न आना

- तेज बुखार (High Fever)

तेज बुखार चिकनगुनिया के पहले लक्षणों में से एक मुख्य लक्षण है। बुखार आम तौर पर 102 से 104 डिग्री फारेनहाइट (40 डिग्री सेल्सियस) तक रहता है। बुखार आमतौर पर एक हफ्ते तक चलता रहता है।

- जोड़ों का दर्द (Joint Pain)

यह अक्सर गंभीर और अक्षम होता है। यह आमतौर पर हाथों और पैरों को प्रभावित करता है। जोड़ों का दर्द आमतौर पर सप्ताह के अंत तक रह सकता है किन्तु कुछ दुर्लभ मामलों में यह एक वर्ष या उससे अधिक तक हो सकता है।

- लाल चकतों की पहचान करे (Red Rashes)

लाल चकते आमतौर पर बुखार की शुरुआत के बाद होते हैं और आमतौर पर मैकुलोपैपुलर होता है। चकते आमतौर पर किसी के धड़ और चरम पर असर डालते हैं। यह किसी के हथेलियों, तलवों और चेहरे पर भी दिखाई दे सकते हैं।

चिकनगुनिया के उपचार के लिए 7 देसी इलाज : Home Remedies For Chikungunya In Hindi

I. चिकनगुनिया बुखार के घरेलू उपचार : Chikungunya Fever Home Remedies In Hindi

1. गिलोय या गुडूची (Giloy)

गिलोय आमतौर पर बुखार को ठीक करने के उपाय के रूप में प्रयोग किया जाता है जब यह किसी अन्य बीमारी का लक्षण होता है।

2. तुलसी (Tulsi)

तुलसी के पत्तों को पानी में तब तक उबाला जा सकता है जब तक कि पानी की मात्रा आधी न हो जाए। दिन में इस सत्तू या शरबत की चुस्की लेने से बुखार उतर जाता है।

3. अंगूर गाय के दूध के साथ (Grapes with Cow’s Milk)

बिना बीज के अंगूर गाय के दूध के साथ लेने से बुखार कम हो जाता है और चिकनगुनिया के दौरान और बाद में होने वाले दर्द को कम करता है।

II. प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए घरेलू उपचार : To Increase Platelet Count In Hindi

4. पपीते के पत्ते का रस (Papaya leaf juice)

चिकनगुनिया से पीड़ित होने पर हफ्ते में हर दो घंटे में दो चम्मच पपीते के पत्ते का रस पीने से बहुत फायदा होता है। पपीते के पत्ते शरीर में प्लेटलेट काउंट को बढ़ाते हैं जो चिकनगुनिया को ठीक करने में मदद करता है।

III. चिकनगुनिया जोड़ों के दर्द से राहत के लिए घरेलू उपचार : For Knee Pain In Hindi

5. लहसुन का पेस्ट (Garlic Paste)

लहसुन के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण चिकनगुनिया के साथ होने वाले जोड़ों के दर्द से राहत दिलाते हैं। इसलिए चिकनगुनिया के घरेलू उपचार के लिए लहसुन की कुछ छिली और कटी हुई फली को पीसकर पेस्ट बनाकर दिन में दो बार जोड़ों पर लगाया जा सकता है।

6. हल्दी दूध (Turmeric Milk)

हल्दी एक अद्भुत मसाला है जो सर्दी और खांसी से लेकर बुखार और सूजन तक कई बीमारियों को ठीक करने की क्षमता रखता है। गर्म हल्दी वाला दूध दिन में दो बार पीने से सूजन कम हो जाती है और दर्द निवारक का काम करता है।

7. नारियल पानी (Coconut water)

दिन में 2 से 3 गिलास ताजा नारियल पानी समग्र स्वास्थ्य को भी बेहतर रखता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now