Create

कोलेस्ट्रोल बढ़ने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय : Cholesterol Badhne Ke Karan, Lakshan Aur Gharelu Upay

कोलेस्ट्रोल बढ़ने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
कोलेस्ट्रोल बढ़ने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

कोलेस्ट्रॉल एक फैट (जिसे लिपिड भी कहा जाता है) है। बहुत अधिक खराब कोलेस्ट्रॉल (Bad cholesterol) हृदय रोग, स्ट्रोक और अन्य समस्याओं के होने की संभावना को बढ़ा सकता है। उच्च रक्त कोलेस्ट्रॉल के लिए चिकित्सा शब्द लिपिड विकार, हाइपरलिपिडिमिया (hyperlipidemia) या हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया (hypercholesterolemia) है। कॉलेस्ट्रॉल स्तर अधिक होने से कई घातक बीमारियों जैसे हार्ट स्ट्रोक, हार्ट अटैक, हाइपरटेंशन, टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। तो आइए जानते हैं कि, हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कौन कौन से कारण और लक्षण हो सकते हैं, जिन्हें जानकर हम अपनी गलत आदतों को सुधार सकते हैं और बीमारियों से बच सकते हैं। इस लेख में आपको कोलेस्ट्रॉल के घरेलू उपाय भी जानने को मिलेंगे।

कोलेस्ट्रोल बढ़ने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय : Cholesterol Badhne Ke Karan, Lakshan Aur Gharelu Upay In Hindi

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारण : Causes Of Cholesterol In Hindi

अस्वास्थ्यकर कोलेस्ट्रॉल के स्तर के जोखिम को बढ़ाने वाले कारकों में शामिल हैं:

अल्प खुराक (Poor diet) - बहुत अधिक संतृप्त वसा या ट्रांस वसा (Trans Fat) खाने से अस्वास्थ्यकर कोलेस्ट्रॉल का स्तर हो सकता है। संतृप्त वसा मांस और पूर्ण वसा वाले डेयरी उत्पादों के वसायुक्त कटौती में पाए जाते हैं। ट्रांस वसा अक्सर पैकेज्ड स्नैक्स या डेसर्ट में पाए जाते हैं।

मोटापा (Obesity) - 30 या इससे अधिक का बॉडी मास इंडेक्स (BMI) होने से आपको उच्च कोलेस्ट्रॉल का खतरा होता है।

व्यायाम की कमी (Lack of exercise) - व्यायाम आपके शरीर के एचडीएल, "अच्छा," कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा देने में मदद करता है।

धूम्रपान (smoking) - सिगरेट पीने से आपका एचडीएल का स्तर कम हो सकता है, "अच्छा," कोलेस्ट्रॉल।

शराब (Alcohol) - बहुत अधिक शराब पीने से आपका कुल कोलेस्ट्रॉल स्तर बढ़ सकता है।

उम्र (Age) - यहां तक कि छोटे बच्चों में भी अस्वास्थ्यकर कोलेस्ट्रॉल हो सकता है, लेकिन 40 से अधिक लोगों में यह अधिक आम है। जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपका लीवर एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सक्षम होता है।

कोलेस्ट्रॉल के लक्षण : Symptoms Of Cholesterol In Hindi

शोधकर्ताओं का कहना है, वैसे तो हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण सामने नहीं आते हैं, हालांकि जब मस्तिष्क या हृदय में रक्त संचार अवरुद्ध हो जाता है तो शरीर में इसके कुछ संकेत जरूर देखे जाते हैं। बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल के स्तर के कारण हार्ट अटैक या स्ट्रोक का जोखिम अधिक होता है। इसके अलावा शरीर में कुछ और लक्षण यदि लंबे समय तक बने रहते हैं तो इन्हें गंभीर संकेत माना जा सकता है।

मतली आना।

जबड़ों और बांहों में दर्द

बहुत अधिक पसीना आना।

सांस लेने में समस्या होना।

कोलेस्ट्रॉल के लिए घरेलू उपाय : Home Remedies For Cholesterol In Hindi

हल्दी का उपयोग (Turmeric)

हल्दी बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने का कार्य भी करती है। हल्दी के अंदर पाए जाने वाले तत्व रक्त की धमनियों से कोलेस्ट्ऱॉल हटाने का कार्य करते हैं। इसके लिए आप चाहें तो दूध या पानी के अंदर आधा चम्मच हल्दी पाउडर डालकर सेवन कर सकते हैं।

लहसुन (Garlic)

यह कोलेस्ट्रॉल कम करने का एक बेहतरीन तरीका भी है। लेकिन इसके लिए आपको सुबह के समय या रात को सोने से पहले इसे कच्चा खाना होगा। दरअसल इसके अंदर एलिसन पाया जाता है जो कुल LDL कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में सक्षम होता है।

ग्रीन टी (Green Tea)

आज कल के समय में वजन कम करने से लेकर, मेटाबॉलिज्म बेहतर बनाने तक के लिए ग्रीन टी का उपयोग किया जा सकता है। ग्रीन टी के अंदर पाए जाने वाले तत्व बैड कोलेस्ट्रॉल को तेजी से कम करने का कार्य करते हैं।

अलसी के बीज (Flax seeds)

अलसी के बीज या फ्लैक्स सीड्स के अंदर लिनोलेनिक एसिड और ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है। यह आपके LDL कोलेस्ट्रॉल पर सीधा वार कर इसे कम करता है।

फिश आयल (Fish Oil)

फिश ऑयल को ओमेगा 3 फैटी एसिड का एक बेहतरीन श्रोत माना जाता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड LDL कोलेस्ट्राल की मात्रा को कम करने का कार्य करता है इसके लिए आप फिश का तरह तरह की फिश का सेवन कर सकते हैं, जैसे लेक, सैलमोन, ट्राउट आदि।

आंवला (Amla)

आंवला के अंदर अमीनो एसिड और एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो बैड को कोलेस्ट्रॉल को कम करने का कार्य करते हैं। आप चाहें तो इसके लिए ताजा आंवले का सेवन करें या फिर एक चम्मच पाउडर गुनगुने पानी में डालकर पीए।

सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

सेब का सिरका कोलेस्ट्रॉल समेत कई समस्याओं का अंत करने में सक्षम है। इसके लिए आप एक चम्मच सेब का सिरका लें और इसे पानी में अच्छी तरह मिला कर पियें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment