धूप सेंकने के 5 फायदे : Sunbathing Benefits

धुप सेकने के फायदे (Sunbathing) (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
धुप सेकने के फायदे (Sunbathing) (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

सर्दियों के महीने में, सर्दी से बचने के लिए ज्यादातर लोग धूप सेकना (Sunbathing) पसंद करते हैं। धूप ना सिर्फ हमारे शरीर को गर्म रखती है, बल्कि इससे बॉडी को पर्याप्त विटामिन-D भी प्राप्त होता है। सूर्य से मिलने वाली धुप हमारी बॉडी को पर्याप्त विटामिन D देती है जो स्वास्थ के अनेक कारणों के लिए लाभदायक मानी गई है। एक्सपर्ट दावा करते हैं कि धूप फंगल इंफेक्शन और कई तरह की बीमारियों में भी बड़ी मददगार होती है। धुप सेकने से असंतुलित वात-पित्त को ठीक किया जा सकता है। आइए आपको सर्दियों में धूप सेंकने (Sunbathing) के फायदे बताते हैं :-

धूप सेंकने के 5 फायदे : Sunbathing Benefits In Hindi

1. वजन घटाने में मददगार (Helps in weight loss)

धूप में बैठने से शरीर में कोलेस्ट्रोल लेवल घटने लगता है, जो वजन कम करने में मददगार साबित होता है। सर्दी की सुबह में करीब 15 मिनट धूप सेंकना शरीर के लिए अच्छा बताया जाता है।

2. विटामिन-D के लिए (Provides Vitamin D)

धूप सेंकने से शरीर को भरपूर मात्रा में विटामिन D मिलता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। इसके साथ ही धूप सेंकने से जोड़ों का दर्द और सर्दी से होने वाले बदन दर्द से भी राहत मिलती है। एक्सीडेंट से टूटी हड्डियों का दर्द भी धुप सेकने से आराम महसूस करवाता है।

3. फंगल इंफेक्शन (Treats fungal infection)

अगर शरीर में किसी तरह का फंगल इंफेक्शन हो जाए तो धूप में जरूर बैठें, क्योंकि धूप में बैठने से बैक्टीरियल इंफेक्शन खत्म हो जाता है। धूप स्किन की समस्याओं से राहत दिलानें में बहुत कारगार होती है।

4. अच्छी नींद (Good sleep)

धूप सेंकने से हमारे शरीर में मेलाटोनिन हार्मोन (Melatonin) पैदा होता है। इस हार्मोन की वजह से हमें अच्छी और सुकूनभरी नींद आती है। साथ ही इससे मानसिक तनाव, डिप्रेशन के लक्षणों में भी आराम मिलता है।

5. गंभीर रोगों का इलाज (Treats serious diseases)

सूरज की किरणें पीलिया जैसी गंभीर बीमारी को ठीक करने की क्षमता रखती हैं। इसलिए डॉक्टरों द्वारा, पीलिया के मरीजों को थोड़ी देर धूप में बैठने की सलाह दी जाती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar