Create

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए कुंदरू के 4 फायदे : Diabetes Ko Control Karne Ke Liye Kundru Ke 4 Fayde

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए कुंदरू के फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)
डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए कुंदरू के फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)

हर कोई चाहता है कि उसकी सेहत हमेशा अच्छी रहे। ऐसे में लोग तरह-तरह की सब्जियों का भी सेवन करते हैं। इन्हीं में से एक है कुंदरू (lvy gourd) की सब्जी। कुंदरू खाने को पोषक तत्वों का भंडार माना जाता है। खासतौर से डायबिटीज के मरीज को कुंदरू जरूर खाना चाहिए। कुंदरू को हार्ट और डायबिटीज रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद माना गया है। कुंदरू में ऐसे कई विटामिन और पोषक तत्व पाए जाते हैं जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। कुंदरू में विटामिन, मिनरल, कैल्शियम, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल जैसे गुण मौजूद हैं, जिससे शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। अगर आप मधुमेह के मरीज हैं तो आपको डाइट में कुंदरू जरूर शामिल करना चाहिए। जानते हैं कुंदरू के फायदे।

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए कुंदरू के 4 फायदे -

डायबिटीज कंट्रोल करे - डायबिटीज (Diabetes) के मरीज को अपने खाने पीने को लेकर बड़ा सोचना पड़ता है। क्योंकि खान-पान में गड़बड़ी से तुरंत ब्लड शुगर बढ़ने लगता है। ऐसे में डायबिटीज के मरीज को अपने खाने में कुंदरू जरूर शामिल करना चाहिए। कुंदरू में एंटी हाइपरग्लाइसेमिक प्रभाव पाया जाता है, जिससे बढ़ा हुआ ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

मोटापा घटाने के लिए - जो लोग अपना मोटापा कम करना चाहते हैं उन्हें कुंदरू का सेवन करना चाहिए। इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। इसे खाने से आसानी से वजन को कंट्रोल किया जा सकता है।

इम्यूनिटी बढ़ाए - कुंदरू में विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं, जिससे इम्यूनिटी (immunity) मजबूत बनाने में मदद मिलती है। साथ ही कुंदरू का सेवन करने से शरीर को विटामिन सी मिलता है।

संक्रमण दूर रखने के लिए - कुंदरू के सेवन से शरीर को इंफेक्शन से दूर रखा जा सकता है। इसमें एंटी बैक्टीरियल और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं। कुंदरू में आयरन, कैल्शियम और विटामिन बी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। जो शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment