Create

आइस टी के गर्मियों में नुकसान, बढ़ता है इन 5 रोगों का जोखिम - Ice Tea ke Garmiyo me nuksan, Badhta hai in 5 rogo ke Jokhim

आइस टी के गर्मियों में नुकसान, बढ़ता है इन 5 रोगों का जोखिम
आइस टी के गर्मियों में नुकसान, बढ़ता है इन 5 रोगों का जोखिम

Disadvantages of Ice Tea in Summer in hindi: गर्मियों के मौसम में जब प्यास लगती है तो हम ठंडे पेय जल की तलाश करते हैं। इसके साथ कई लोग आइस टी भी पीना पसंद करते हैं। आइस टी आपके शरीर को ठंडा और शांत महसूस करने में मदद करती है। इससे ठंडक तो मिल जाती है लेकिन, इसके कई नुकसान भी हैं। हालांकि, कुछ फायदे भी हैं लेकिन, ज्यादा मात्रा में सेवन करने पर आपको कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं आइस टी पीने से होने वाले 5 बड़े रोगों के खतरे के बारे में।

गर्मियों में आइस टी के नुकसान

बढ़ जाता है शरीर का वजन (body weight increases)

अगर आप वजन कम करने की सोच रहे हैं तो भूल कर भी आइस टी का सेवन न करें। क्योंकि, ये आपकी मेहनत पर पानी फेर सकता है। गर्मियों में ठंडा महसूस करने के लिए जो लोग आइस टी को पीते हैं उनके शरीर में वजन बढ़ने का खतरा बढ़ सकता है। क्योंकि, आइट टी में कैलोरी की मात्रा ज्यादा होती है। इतना ही नहीं इसमें मौजूद शुगर भी आपके वजन को बढ़ा सकता है।

उड़ा सकती है रातों की नींद (Iced tea Can increase sleeplessness problem)

गर्मी में आप ठंडा महसूस करने के लिए आइस टी विकल्प में चुन सकते हैं लेकिन, ये आपके रातों की नींद उड़ा सकती है। क्योंकि, आइस टी में कैफीन की मात्रा ज्यादा होती है। जिसके चलते रात में नींद आने में समस्या हो सकती है। इसके साथ ही आप चिड़चिड़ा महसूस कर सकते हैं और सिरदर्द-पेट संबंधी समस्याएं बढ़ सकती हैं।

किडनी को कर सकती है प्रभावित (Ice Tea Can affect kidney)

आइस टी के सेवन से आपकी किडनी प्रभावित हो सकती है। इससे किडनी खराब या फिर किडनी फेलियर जैसी समस्याएं भी उत्पन्न हो सकती हैं। साथ ही गुर्दे में पथरी की भी समस्या उपज सकती है। ऐसे में इसके सेवन से बचे तो अच्छा होगा।

ब्लड शुगर में स्पाइक का कारण (May cause spike in blood sugar)

अगर कोई डायबिटीज रोगी है तो उसे आइस टी का बिल्कुल सेवन नहीं करना चाहिए। इससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। ऐसे में इसके सेवन से बचे रहे तो ही अच्छा ही होगा।

स्ट्रोक का खतरा (Increased risk of stroke)

आइस टी का ज्यादा सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ सकती है। इसके सेवन से शुगर इंटेक बढ़ जाता है, जो कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करती है। इससे स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment