Create

शरीर में फोलिक एसिड की कमी हो सकती है खतरनाक, इन गंभीर बीमारियों के हो सकते हैं शिकार

फोलिक एसिड की कमी से होने वाले रोग(फोटो-Sportskeeda hindi)
फोलिक एसिड की कमी से होने वाले रोग(फोटो-Sportskeeda hindi)
reaction-emoji
Rakshita Srivastava

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कई पोषक तत्वों की जरूरत होती है, उन्हीं में से एक फोलिक एसिड (Folic Acid) भी है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए फोलिक एसिड बहुत जरूरी होता है। फोलिक एसिड को विटामिन बी-9, फोलेट और फोलासीन के नाम से भी जाना जाता है। फोलिक एसिड एक ऐसा केमिकल है, जो शरीर में डेमेज हो चुकी सेल्स को रिपेयर करने का काम करता है। इससे नई कोशिकाओं का निर्माण करने में भी मदद मिलती है। साथ ही फोलिक एसिड पूरे शरीर में ऑक्सीजन का संचार सुचारू ढंग से हो इसके लिए भी जरूरी होता है। लेकिन अगर शरीर में फोलिक एसिड की कमी हो जाए, तो आप कई बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। आइए जानते हैं फोलिक एसिड की कमी से कौन-कौन से रोग हो सकते हैं।

शरीर में फोलिक एसिड की कमी हो सकती है खतरनाक, इन गंभीर बीमारियों के हो सकते हैं शिकार

फोलिक एसिड की कमी के लक्षण

1- कमजोरी महसूस होना

2- शरीर में खून की कमी होना

3- सांस फूलना

4- हाथों और पैरों में "सुन्नता और झुनझुनी" महसूस होना

5- त्वचा का पीला पड़ना

6- चिड़चिड़ापन

7- अधिक गुस्सा आना

फोलिक एसिड की कमी से होने वाले रोग

1- शरीर में फोलिक एसिड की कमी होने पर हड्डियां (Bones) कमजोर हो सकती है, जिससे हड्डियों संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए आपको अपनी डाइट में फोलिक एसिड से भरपूर चीजों को शामिल करना चाहिए।

2- फोलिक एसिड कैंसर (Cancer) से बचाव करने में मदद करता है। लेकिन अगर आपके शरीर में फोलिक एसिड की कमी हो जाए, तो आप कैंसर जैसी घातक बीमारी के शिकार हो सकते हैं। क्योंकि रक्त में फोलेट की कमी से कई मामलों में सर्वाइकल कैंसर, स्तन कैंसर, पेट के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। ऐसी से में फोलेट से भरपूर चीजों का सेवन जरूर करना चाहिए।

3- फोलिक एसिड की कमी के कारण शरीर में खून के कमी की शिकायत हो जाती है। जिसकी वजह से आप एनीमिया (Anemia) के शिकार हो सकते हैं। एनीमिया की शिकायत होने पर कमजोरी और थकान महसूस होने लगती है। वहीं, अगर खून की कमी ज्यादा दिन तक बनी रहे, तो आप कई और बीमारियों के शिकार भी हो सकते हैं।

4- फोलिक एसिड की कमी की वजह से हार्ट अटैक (Heart Attack) का खतरा भी बढ़ जाता है, क्योंकि फोलिक एसिड की कमी से होमोसिस्टीन का स्तर भी कम हो जाता है, जिसकी वजह से दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Rakshita Srivastava
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...