Create

युवावस्था में कसरत बुढ़ापे में फल देती है- yuvaawastha me kashrat budhape me fal deti hai

युवावस्था में कसरत बुढ़ापे में फल देती है
युवावस्था में कसरत बुढ़ापे में फल देती है
reaction-emoji
Ritu Raj

एक्सरसाइज और योग करना हर किसी के लिए जरूरी होता है। आज के समय में लोग भाग-दौड़ भरी जिंदगी में इससे दूर होते जा रहे हैं लेकिन, जो लोग एक्सरसाइज और योग करते हैं वो सिर्फ स्वस्थ ही नहीं बल्कि कई बीमारियों से दूर रहते हैं। नियमित एक्सरसाइज और योग करने से गंभीर से गंभीर बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। लेकिन, क्या आपको पता है कि युवावस्था यानी जवानी में आपने जो एक्सरसाइज किया है उसका रिजल्ट बुढ़ापे में भी दिखता है।

युवावस्था में कसरत करने वाले लोग बुढ़ापे में भी रहते हैं स्वास्थ्य (People who exercise in youth remain healthy even in old age)

एक नई स्टडी की माने तो, युवावस्था में की गई भाग-दौड़ बुढ़ापे में फायदेमंद साबित होती है। मेडिसिन ऐंड साइंस इन स्पोर्ट्स ऐंड एक्सर्साइज में छपे स्टडी के लेख को देख हर कोई हैरान हो गया। क्योंकि, यह स्टडी करीब 50 साल पहले उस वक्त शुरू हुई थी जब 1968 में अमेरिका में समर ओलिंपिक ट्रैक ऐंड फील्ड ट्रायल्स चल रहे थे। उस वक्त एक एक्सरसाइज फिजियोलॉजिस्ट जैक डेनियल्स ने अमेरिका के टॉप रनर्स के साथ काम करना शुरु किया। उसमें से 26 लोगों की उन्होंने गहराई से जांच की जिसमें उन लोगों की एरोबिक कैपेसिटी और सेहत से जुड़ी कई दूसरी परफॉर्मेंस क्षमता का आकलन किया गया।

टॉप रनर्स पर किया गया रिसर्च (Research done on top runners)

इन सभी रनर्स की इस वक्त उम्र 20 साल के आसपास थी और वे सभी लोग असाधारण डील-डौल के थे। 1993 और 2013 में एक बार फिर इन लोगों का टेस्ट किया गया। उन 26 लोगों में से 3 की मौत हो चुकी थी जबकि एक रनर ने टेस्ट में हिस्सा लेने से मना कर दिया था। 2013 के टेस्ट के दौरान जब उन लोगों से उनके एक्सरसाइज रूटीन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, वो हर सप्ताह कुछ घंटों के लिए वॉकिंग, जॉगिंग और साइकलिंग करते हैं।

देखें कैसे युवावस्था में कसरत बुढ़ापे में दिखाता है असर (See how exercise in youth shows effect in old age)

1968 और 1993 की तुलना में 2013 में किए गए टेस्ट में भले ही इन लोगों की फिटनेस में कमी आयी हो बावजूद इसके इनकी फिटनेस अमेरिका के बुजुर्गों में टॉप 10 में थी। इन पुरुषों की जीवनशैली से यह बात साबित हुई कि बढ़ती उम्र में भी बेहतर फिटनेस संभव है। लेकिन इसके लिए आपको नियमित व्यायाम करना बेहद जरूरी है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...