Create

गार्डनिंग करने से आपके शरीर को मिलते हैं ये 5 फायदे : Gardening Karne ke 5 Fayde

बागवानी (गार्डनिंग) करने से आपके शरीर को मिलते हैं ये 5 फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)
बागवानी (गार्डनिंग) करने से आपके शरीर को मिलते हैं ये 5 फायदे (फोटो - sportskeeda hindi)

कई लोगों को गार्डनिंग यानी बागवानी (Gardening benefits) करने का शौक होता है। यह आपको नेचुरल तरीके से हेल्दी रखने में मदद करता है, क्योंकि आप इसके जरिए हरे-भरे पेड़-पौधों के बीच होते हैं। गार्डनिंगकरने ले व्यक्ति का मन खुश होता है। जानें, गार्डनिंग (Gardening benefits) करने के सेहत पर क्या होते हैं फायदे।

गार्डनिंग करने से आपके शरीर को मिलते हैं ये 5 फायदे : Gardening Karne ke 5 Fayde In Hindi

कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती है - जो लोग वजन कम करने के लिए अपनी कैलोरी बर्न करने की कोशिश करते है, उन लोगों को दिन में एक घंटा रोजाना गार्डनिंग करनी चाहिए। इससे हाथ - पैर में भी मजबूती आती है और अतिरिक्त फैट भी कम हो सकता है।

हड्डियों को बनाए मजबूत - गार्डनिंग की मददद से हड्डियां मजबूत होती है। दरअसल जब आप गार्डनिंग करते है, तो सूर्य की किरण आपके शरीर पर पड़ती है, जिससे भरपूर मात्रा में विटामिन डी मिलता है और इसकी मदद से शरीर में आसानी से कैल्शियम का अवशोषण होता है।

हाई ब्लड प्रेशर कम करने में मदद - हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित लोगों के लिए गार्डनिंग करना लाभकारी हो सकता है। दरअसल गार्डनिंग के दौरान पेड़-पौधों के साथ आपका मन शांत और खुशी का अनुभव करता है। इससे रक्त धमनियों पर पड़ने वाला तनाव कम होता है और साथ ही कोलेस्ट्रोल कम करने में भी मदद मिलती है।

तनाव कम करने के लिए - गार्डनिंग करने से तनाव कम होता है। आपका चिड़चिड़ापन और गुस्सैल स्वभाव धीरे-धीरे सौम्य और शांत होने लगता है।

स्वस्थ आहार मिलता है - दरअसल गार्डनिंग के दौरान ज्यादातर लोग ताजे फल और सब्जियां उगाते है और मार्केट की फल-सब्जियों की तुलना में वह ताजी सब्जियों से बना खाना पसंद करते है। इससे शरीर स्वस्थ और बीमारियों से दूर रहता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment