piles की समस्या से राहत दिलाएं ये 7 फल

piles की समस्या से राहत दिलाएं ये 7 फल (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
piles की समस्या से राहत दिलाएं ये 7 फल (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

फलों को लंबे समय से समग्र स्वास्थ्य पर उनके लाभकारी प्रभावों के लिए पहचाना जाता है, और कुछ फल विशेष रूप से बवासीर की समस्या से राहत प्रदान करने की क्षमता के लिए जाने जाते हैं, जिन्हें बवासीर भी कहा जाता है। बवासीर तब होता है जब मलाशय और गुदा में नसें सूज जाती हैं और सूजन हो जाती है, जिससे असुविधा, दर्द और कभी-कभी रक्तस्राव होता है। अपने आहार में कुछ फलों को शामिल करने से लक्षणों को कम करने और उपचार को बढ़ावा देने में मदद मिल सकती है।

piles की समस्या से राहत दिलाएं ये 7 फल (Get Relief From Piles With These 7 Fruits In Hindi)

पपीता: पपीते में पपेन नामक एक एंजाइम होता है, जो पाचन में सहायता करता है और मल को नरम करने में मदद करता है, जिससे मलत्याग आसान हो जाता है। यह मल त्याग के दौरान तनाव को कम कर सकता है, जिससे बवासीर के लक्षण कम हो सकते हैं।

केले: केले फाइबर से भरपूर होते हैं, जो मल में मात्रा जोड़ते हैं और मल त्याग को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। इनमें पोटेशियम भी होता है, जो सूजन को कम करने और उपचार को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

सेब: सेब में फाइबर और पानी की मात्रा अधिक होती है, जो उन्हें नियमित मल त्याग को बढ़ावा देने और कब्ज को रोकने के लिए उत्कृष्ट बनाता है, जो बवासीर का एक आम कारण है।

नाशपाती: नाशपाती फाइबर से भरपूर एक और फल है जो मल को नरम करने और मल त्याग को आसान बनाने में मदद कर सकता है। इनमें एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी यौगिक भी होते हैं जो सूजन और परेशानी को कम कर सकते हैं।

बेरीज: रसभरी, स्ट्रॉबेरी और ब्लूबेरी जैसे जामुन फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। उच्च फाइबर सामग्री पाचन में सहायता करती है और नियमित मल त्याग को बढ़ावा देती है, जबकि एंटीऑक्सिडेंट सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

कीवी: कीवी एक फाइबर युक्त फल है जो कब्ज को रोकने और बवासीर से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। इसमें एंजाइम भी होते हैं जो पाचन में सहायता करते हैं और समग्र आंत स्वास्थ्य में सुधार करते हैं।

संतरा: संतरा फाइबर और विटामिन सी का अच्छा स्रोत है। फाइबर मल त्याग को नियंत्रित करने में मदद करता है, जबकि विटामिन सी ऊतक की मरम्मत में सहायता करता है और रक्त वाहिकाओं को मजबूत करता है, जिससे संभावित रूप से बवासीर का खतरा कम हो जाता है।

याद रखें कि हालांकि ये फल फायदेमंद हो सकते हैं, लेकिन संतुलित आहार बनाए रखना और हाइड्रेटेड रहना महत्वपूर्ण है। यदि आप बवासीर के लगातार या गंभीर लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं तो व्यापक उपचार योजना के लिए स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना भी उचित है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now