Create

वायरल इन्फेक्शन होने पर पिएं गिलोय जूस, जानें 5 औषधीय गुण

वायरल इन्फेक्शन होने पर पिएं गिलोय जूस, जानें 5 औषधीय गुण (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
वायरल इन्फेक्शन होने पर पिएं गिलोय जूस, जानें 5 औषधीय गुण (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

महामारी ने हम सभी को अपने स्वास्थ्य के बारे में चिंता करने पर मजबूर किया है। हम बीमारियों के इलाज के लिए कई तरह की दवाओं का सेवन करते हैं, लेकिन एक प्राकृतिक जड़ी बूटी का प्रभाव हमेशा चमत्कारी होता है। हम सभी विभिन्न आहारों का पालन करते हैं और स्वास्थ्य की अलग तरह से देखभाल करते हैं, आयुर्वेद समग्र प्रतिरक्षा के लिए कई जड़ी-बूटियाँ प्रदान करता है। ऐसी ही एक जड़ी-बूटी है गिलोय। इसे हिंदी में गुडूची के नाम से भी जाना जाता है। इसे आयुर्वेद में 'अमृत' के नाम से जाना जाता है, जिसका अर्थ है अमरता की जड़। गिलोय के फायदे आप गिलोय जूस पी कर भी लें सकते हैं। लोग इसका उपयोग सामान्य स्वास्थ्य और दिन-प्रतिदिन की स्थितियों के इलाज के लिए करते हैं। गिलोय जूस को इसके औषधीय गुणों और कई स्वास्थ्य लाभों के लिए सराहा गया है। इस लेख के माध्यम से हम गिलोय जूस के फायदों पर प्रकाश डालने जा रहे हैं। पूरी जानकारी के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

वायरल इन्फेक्शन होने पर पिएं गिलोय जूस, जानें 5 औषधीय गुण - Giloy Juice Ke Fayde In Hindi

एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर (Rich in antioxidant properties)

गिलोय में फ्लेवोनोइड्स (flavonoids) और पॉलीफेनोल्स (polyphenols) की मौजूदगी फ्री रेडिकल से छुटकारा दिलाती है। गिलोय का रस न्यूट्रास्युटिकल्स (nutraceuticals) के स्रोत के रूप में कार्य करता है जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है और परिणामी स्वास्थ्य लाभ के साथ पुरानी अपक्षयी बीमारियों को रोकने और कम करने में मदद करता है।

गठिया रोधी गुणों से भरपूर (Rich in anti-arthritic properties)

गिलोय IL-1β, IL-17 और ट्यूमर नेक्रोसिस फैक्टर-α जैसे प्रिनफ्लेमेटरी साइटोकिन्स (proinflammatory cytokines) के संश्लेषण को कम करके गठिया से जुड़े जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है। गिलोय के जूस के सेवन से गठिया जैसी बीमारी में आराम मिलता है।

कार्डियोप्रोटेक्टिव गुण (Has cardioprotective properties)

गिलोय के रस का सेवन ग्लूकोरोनाइड और कोलेस्ट्रॉल को रोककर लिपिड मेटाबोलिज्म को नियंत्रित करता है और साथ ही एंटीऑक्सीडेंट गुणों के साथ दिल को इन्फार्क्शन (infarction) से भी बचाता है।

मधुमेह विरोधी गुण पाए जाते हैं (Has anti-diabetic properties)

गिलोय हाइपोग्लाइसेमिक एजेंट (hypoglycemic agent) की तरह काम करता है। यह अग्न्याशय (pancreas) से इंसुलिन स्राव के उत्पादन को उत्तेजित करता है और ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता है। गिलोय का जूस दीर्घकालिक सेलुलर इंसुलिन संवेदनशीलता में भी सुधार करता है जो मधुमेह को अच्छी तरह से प्रबंधित करने में मदद करता है।

एंटी-एजिंग गुणों से भरपूर (Rich in anti-aging properties)

गिलोय एक प्रभावी एंटी-एजिंग जड़ी बूटी है। फ्लेवोनोइड्स (flavonoids) से भरपूर यह जड़ी बूटी कोशिका क्षति से लड़ती है और नई कोशिका वृद्धि को आरंभ करती है। यह त्वचा को पोषण भी देती है और उम्र बढ़ने के दृश्य संकेतों को कम करने के लिए कोलेजन उत्पादन को बढ़ाती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

comments icon
Fetching more content...