Create

हल्दी वाला दूध के 5 नुकसान : Haldi Wala Doodh Ke 5 Nuksan

फोटो- healthdear
फोटो- healthdear

आज के समय में लोग कोरोना (Covid 19) से बचने के लिए, सर्दी हो या फिर चोट लगी हो। हर चीज के लिए हल्दी वाला दूध (Turmeric Milk) पी रहे हैं। क्योंकि हल्दी वाले दूध में एंटीमाइक्रोबियल होता है। यानि हल्दी वाला दूध, बैक्टीरिया और फफूंद जैसे सूक्ष्मजीवों की मौजूदगी कम करने की क्षमता होता है। लेकिन हल्दी वाला दूध जहां सेहत के लिए लाभकारी होता है, वहीं इसके सेवन से लोगों को नुकसान भी पहुंच सकता है। जिसके बारे में शायद ही ज्यादा लोग जानते हों। तो आइये हल्दी वाला ये दूध किसको और क्यों नुकसान पहुंचा सकता है।

हल्दी दूध के नुकसान -

शरीर में आयरन की कमी को बढ़ा सकता है - अक्सर कई लोग ऐसे होते हैं जिसके शरीर में आयरन की कमी होती है, लेकिन फिर भी वो हल्दी वाला दूध पीते रहते हैं। लेकिन इससे उनके शरीर को फायदा नही बल्कि नुकसान होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हल्दी आयरन को सोखने का काम करती हैं। जिसकी वजह से शरीर में आयरन की कमी और भी ज्यादा बढ़ सकती है। इसलिए जिन लोगों के शरीर में आयरन की कमी है उनको हल्दी वाला दूध नहीं पीना चाहिए।

स्टोन और लीवर के मरीज - अगर किसी व्यक्ति को स्टोन है तो उन लोगों को हल्दी दूध पीने से परहेज़ करना चाहिए। खास कर जब स्टोन गॉलब्लेडर में हो तो, क्योंकि हल्दी दूध पीने से दिक्क्त और बढ़ सकती है। साथ ही ऐसे लोग जिनको लीवर में किसी तरह की परेशानी है उन लोगों को भी इस दूध को नहीं पीना चाहिए।

नकसीर की समस्या - अगर किसी को नकसीर की समस्या हो रही है है तो उन लोगों को हल्दी वाले दूध के सेवन से दूर रहना चाहिए, क्योंकि हल्दी की तासीर गर्म होती है। हल्दी में खून को पतला करने के गुण होते हैं जिसके कारण नाक से खून आने की दिक्कत और भी बढ़ सकती है।

पाईल्स के मरीज दूर रहे - अगर किसी को पाईल्स की परेशानी है तो उन लोगों को हल्दी वाले दूध के सेवन से दूर रहना चाहिए।

डायबिटीज के मरीज - अगर किसी व्यक्ति को डायबिटीज की समस्या है तो उनके लिए हल्दी वाला दूध नुकसानदायक होता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि हल्दी में करक्यूमिन तत्व होते हैं जो ब्लड शुगर को प्रभावित करता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment