Create

सिर में अंदरूनी चोट लगने के कारण, लक्षण और इलाज : Sir Me Andruni Chot Lagne Ke Karan Aur Ilaj

सिर में अंदरूनी चोट लगने के कारण, लक्षण और इलाज (फोटो - sportskeeda hindi)
सिर में अंदरूनी चोट लगने के कारण, लक्षण और इलाज (फोटो - sportskeeda hindi)

पैर फिसलने, एक्सीडेंट या किसी सॉलि़ड ऑब्जेक्ट से सिर की टक्कर आदि ऐसे बहुत से कारण है जिससे सिर में चोट लग सकती है। ऐसा जरूरी नहीं सिर की चोट में ब्लीडिंग ही हो। बहुत सी बार सिर्फ दर्द महसूस होता है। जब तक चोट वाले हिस्से से ब्लीडिंग नहीं होती हम लोग उसे गंभीर नहीं मानते। शायद ये भी एक वजह है कि अक्सर सिर में लगी चोट को इग्नोर कर दिया जाता है। सिर में चोट अलग-अलग तरह की होती है। कई बार यह चोट एक छोटे से बंप तो कई बार बड़े बड़े फ्रैक्चर के रूप में सिर में देखने को मिल सकती है। काफी बार तो यह चोट इतनी खतरनाक होती हैं कि ब्रेन डेमेज तक भी हो सकता है। यहां तक कि यह चोट मृत्यु का कारण भी बन सकती है। इसलिए सिर की चोट के लक्षणों का पता होना चाहिए, जिससे इनकी पहचान करने पर जल्द से जल्द अधिक गंभीरता से बचा जा सके और इलाज शुरू करवाया जा सके।

चोट के लक्षण

1 . काफी ज्यादा ब्लीडिंग होना।

2 . बेहोश हो जाना और काफी समय तक होश में न आना।

3 . टेस्ट, स्मेल और देखने की क्षमता में समस्याएं आना।

4 . जागते रहने में समस्या आना।

5 . कानों या नाक से खून बहना।

इलाज

1 . अगर हल्की फुल्की चोट है तो उसे घर पर भी ठीक किया जा सकता है।

2 . अगर सूजन आ गई है तो ठंडे पानी में कपड़ा भिगो कर या बर्फ से सिकाई करने पर सूजन कम हो सकती है।

3 . नॉन स्टेरॉयडल एंटी इन्फ्लेमेटरी ड्रग्स का सेवन करने से बचना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment