दूध में मिलाकर पिएं घी, दूर होंगे कई रोग

दूध में मिलाकर पिएं घी, दूर होंगे कई रोग(फोटो-Sportskeeda hindi)
दूध में मिलाकर पिएं घी, दूर होंगे कई रोग(फोटो-Sportskeeda hindi)

दूध का सेवन सेहत को काफी लाभ पहुंचाता है। क्योंकि दूध पोषक तत्वों से भरपूर होता है। दूध का सेवन वैसे तो आप कई तरीकों से कर सकते हैं, लेकिन क्या आपने कभी दूध में घी मिलाकर सेवन किया है। दूध में घी मिलाकर पीना सेहत के लिए बेहद गुणकारी होता है। इस मिश्रण का सेवन करने से आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत बनती है, साथ ही इसके सेवन से स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याओं में भी लाभ पहुंचता है। तो आइए जानते हैं दूध में घी मिलाकर पीने के क्या-क्या फायदे होते हैं।

youtube-cover

दूध में मिलाकर पिएं घी, दूर होंगे कई रोग-Health Benefits Of Drinking Milk Mixed With Ghee In Hindi

दूध में पोषक तत्व- दूध प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन डी, विटामिन ए, विटामिन ई, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम जैसे तत्वों से भरपूर होता है।

घी में पोषक तत्व- घी में ओमेगा-3, ओमेगा-9 फैटी एसिड और विटामिन ए, के, ई जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं।

दूध और घी के फायदे

प्रतिरक्षा प्रणाली बनाए मजबूत

अगर आप दूध में घी मिलाकर पीते हैं, तो इसमें पाया जाने वाला विटामिन्स आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity) को मजबूत बनाने में मदद करता है, जिससे आपका मौसमी बीमारियों से बचाव होता है।

त्वचा को रखे स्वस्थ

अगर आप दूध में घी मिलाकर पीते हैं, तो यह त्वचा (Skin) को बेहद लाभ पहुंचाता है। क्योंकि इस मिश्रण में विटामिन ई पाया जाता है, जो त्वचा को स्वस्थ रखने में और त्वचा को ग्लोइंग बनाने में मदद करता है।

हड्डियों को बनाए मजबूत

अगर आप दूध में घी मिलाकर पीते हैं, तो यह हड्डियों (Bones) को काफी लाभ पहुंचाता है। क्योंकि इस मिश्रण में पाया जाने वाला कैल्शियम और विटामिन डी हड्डियों को स्वस्थ रकने में और मजबूत बनाने में मदद करता है।

पाचन में करे सुधार

अगर आप दूध में घी मिलाकर पीते हैं, तो यह पाचन (Digestion)स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है। क्योंकि इसमें पाया जाने वाला गुण पाचन क्रिया में सुधार करता है और पाचन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है।

जोड़ों का दर्द करे दूर

जोड़ों में दर्द और सूजन (Joint pain and swelling) की समस्या होने पर अगर आप दूध में घी मिलाकर पीते हैं, तो यह फायदेमंद होता है। जी हां क्योंकि इसमें पाया जाने वाला गुण जोडों में होने वाले दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava