Create
Notifications

हार्ट अटैक के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज - Heart Attack Ke Karan, Lakshan Aur Gharelu Ilaaj

हार्ट अटैक के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
हार्ट अटैक के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar
visit

आपके हृदय की मांसपेशियों को जीवित रहने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। दिल का दौरा (Heart Attack) तब होता है जब हृदय की मांसपेशियों में ऑक्सीजन लाने वाला रक्त प्रवाह गंभीर रूप से कम हो जाता है या पूरी तरह से कट जाता है। इस लेख में हार्ट अटैक के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज के बारे में चर्चा की गयी है, जानने के लिए आगे पढ़ें।

हार्ट अटैक के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज - Heart Attack Ke Karan, Lakshan Aur Gharelu Ilaaj In Hindi

हार्ट अटैक के कारण : Causes Of Heart Attack In Hindi

कोल्ड स्वैट, थकान महसूस होती है, साँस लेने में परेशानी होती है, शरीर का भार कम महसूस होता है, चक्कर आते हैं, बाएँ हाथ में दर्द होता है, उल्टी महसूस होती है, अपच की समस्या भी हो सकती है, सीने में जलन होती है।

हार्ट अटैक के लक्षण : Symptoms Of Heart Attack In Hindi

सीने में दर्द या बेचैनी होना - ज्यादातर दिल के दौरे में छाती के केंद्र या बाईं ओर बेचैनी होती है जो कुछ मिनटों से अधिक समय तक रहती है या जो दूर होकर वापस आ जाती है। बेचैनी असहज दबाव, निचोड़ने, परिपूर्णता या दर्द की तरह महसूस कर सकती है।

कमजोर, हल्का-हल्का, या बेहोशी महसूस करना - आप ठंडे पसीने में भी निकल सकते हैं।

जबड़े, गर्दन या पीठ में दर्द या बेचैनी - एक या दोनों बाहों या कंधों में दर्द या बेचैनी।

एक या दोनों बाहों या कंधों में दर्द या बेचैनी।

सांस की तकलीफ - यह अक्सर सीने में तकलीफ के साथ आता है, लेकिन सांस की तकलीफ सीने में तकलीफ होने से पहले भी हो सकती है।

हार्ट अटैक के घरेलू इलाज : Home Remedies For Heart Attack In Hindi

यहां दिए गए पॉइंट हार्ट अटैक से बचाव के लिए है।

- काली मिर्च (black papper)

काली मिर्च कॉर्डियोप्रोटेक्ट‍िव एक्शन को सक्रिय करने का काम करती है। ये न केवल ऑक्सीडेटिव डैमेज से सुरक्षा देने का काम करती है बल्कि कार्डियक फंक्शन को भी बढ़ाती है।

- लहसुन (garlic)

बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल दिल से जुड़ी बीमारियों का सबसे बड़ा कारण है। अपने खाने में लहसुन को शामिल करके आप कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल कर सकते हैं। लहसुन में एलिसिन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो न केवल कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करता है बल्क‍ि ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है।

- हल्दी (turmeric)

एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर हल्दी ब्लड कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मददगार है। इसके अलावा ये डायबिटीज से बचाव का भी अच्छा उपाय है।

- दालचीनी (cinnamon)

खाने में दालचीनी के इस्तेमाल से ब्लड फ्लो बेहतर होता है। जिससे खून का थक्का बनने की आशंका बहुत कम हो जाती है। दिल से जुड़ी बीमारियों से सुरक्षित रहने के लिए रोजाना चुटकीभर दालचीनी का इस्तेमाल करें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now