Create

अम्लपित्त का घरेलू उपचार: Amlapitta Ka Gharelu Upchaar 

एसिडिटी एक बड़ी बीमारी है और अगर आप उससे दो चार हो रहे हैं तो आपको आज ही इन उपचारों को करना चाहिए (फोटो: hindimeaning)
एसिडिटी एक बड़ी बीमारी है और अगर आप उससे दो चार हो रहे हैं तो आपको आज ही इन उपचारों को करना चाहिए (फोटो: hindimeaning)

अम्लपित्त या एसिडिटी एक ऐसी परेशानी है जिससे हर दूसरा इंसान ग्रसित है। इसके पीछे एक बड़ा कारण ये है कि आपकी दिनचर्या और आपका खान पान प्रभावित है। इसके लिए मिलावट जितनी जिम्मेदार है उतने ही आप भी हैं जो अपने खाने को कुछ इस तरह से खाते हैं जिससे आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

जंक या फास्ट फ़ूड हमें खाने में अच्छा लगता है लेकिन उसके नाम में फास्ट होने के अलावा ऐसा कुछ भी नहीं है जो आपको फास्ट बना दे। शरीर में आलस, बेचैनी और स्वाद ग्रंथियों को खराब करने में इसका एक अहम योगदान है। आपका जीवन अगर खराब होता है तो वो है खराब खाने के कारण जिस पर आपका कभी ध्यान नहीं जाता है।

इससे उलट लोग मार्केट में मिलने वाले उन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने लगते हैं जिनसे आपके शरीर को कुछ समय या उस समय तो तुरंत आराम मिल जाता है लेकिन अगर बात को बड़े वक्त की तो ऐसा नहीं होता है। ऐसे में आप कुछ घरेलू उपचार करके अपनी सेहत को ठीक रख सकते हैं।

अम्लपित्त का घरेलू उपचार: Amlapitta Ka Gharelu Upchaar

सुबह ठंडा पानी और भोजन से दूरी: Drink cold water and avoid food

सुबह सुबह अगर आपको चाय पीने की आदत है तो आज ही उस आदत को सुबह सुबह दो से तीन गिलास पानी से बदल दें। आपको अपने जीवन में अगर कोई परेशानी नहीं चाहिए तो इसके बाद अगले एक घंटे तक खाने से दूरी बना लें। इसके बाद ही किसी भी चीज का (जिसमें फल भी शामिल हैं) सेवन करें।

जंक फूड और प्रेज़रवेटिव वाले खाने छोड़ें: Avoid junk food and preservative

जंक फूड खाने में भला अच्छा कैसे हो सकता है जब उसके नाम की शुरुआत में ही जंक है। पेट के लिए ये सभी भोजन बेहद हानिकारक होते हैं लेकिन इन्हें बेहद आसानी से बेचा जाता है। बेचने वाले को अपने मुनाफे से मतलब है, सेहत से नहीं लेकिन अगर आप अपनी सेहत और एसिडिटी को ठीक करना चाहते हैं तो इनका सेवन ना करें।

कम मात्रा में खाना खाएं: Eat in less quantity

खाने का अर्थ है सेहत को ठीक करना लेकिन अगर आप लगातार और बेवजह खा लेंगे तो उससे आपकी सेहत को नुकसान होगा। आप अपनी सेहत को ठीक रखने के लिए दिन में कई बार खा सकते हैं। डॉक्टर्स और मेडिकल जगत के द्वारा भी ये बात मानी गई है कि कम मात्रा और कई बार खाने से आप पेट को तो ठीक रखते ही हैं, एसिडिटी के साथ साथ आप अपने बढ़े हुए वजन को भी कंट्रोल कर सकते हैं।

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए है, इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रुप में नहीं लिया जा सकता। कोई भी स्टेप लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर कर लें।)

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment