गर्भावस्था के दौरान मानसिक स्वास्थ्य का बिगड़ना कितना सामान्य है?

How common is mental health deterioration during pregnancy?
गर्भावस्था के दौरान मानसिक स्वास्थ्य का बिगड़ना कितना सामान्य है?

गर्भावस्था कई महिलाओं के लिए एक रोमांचक और आनंदमय समय हो सकता है, लेकिन यह चुनौतियों का उचित हिस्सा भी लेकर आ सकता है। ऐसी ही एक चुनौती गर्भावस्था का एक महिला के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ने वाला प्रभाव है।

आज हम जानेंगे कि गर्भावस्था के दौरान मानसिक स्वास्थ्य का बिगड़ना सामान्य है या नहीं।

यह ध्यान रखना आवश्यक है कि गर्भावस्था एक महिला के शरीर में महत्वपूर्ण हार्मोनल परिवर्तनों का समय होता है। ये हार्मोनल बदलाव मिजाज, चिंता और अवसाद सहित कई तरह के शारीरिक और भावनात्मक लक्षण पैदा कर सकते हैं। वास्तव में, शोध से पता चलता है कि 20% गर्भवती महिलाएं अपनी गर्भावस्था के दौरान अवसाद या चिंता का अनुभव करती हैं।

जबकि कुछ महिलाएं गर्भावस्था के दौरान मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं के विकास के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकती हैं, ऐसे कई कारक हैं जो इस समय के दौरान मानसिक स्वास्थ्य के बिगड़ने में योगदान कर सकते हैं।

कुछ सबसे सामान्य कारकों में शामिल हैं:

youtube-cover

मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों का इतिहास:

जिन महिलाओं का मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों का इतिहास रहा है, जैसे कि अवसाद, चिंता, या द्विध्रुवी विकार, गर्भावस्था के दौरान इन स्थितियों का अनुभव करने की अधिक संभावना है।

समर्थन की कमी:

गर्भावस्था एक चुनौतीपूर्ण समय हो सकता है, और मित्रों, परिवार या साथी से समर्थन की कमी मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों में योगदान कर सकती है।

वित्तीय तनाव:

गर्भावस्था और प्रसव महंगा हो सकता है, और वित्तीय तनाव मौजूदा मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को बढ़ा सकता है या नए को ट्रिगर कर सकता है।

गर्भावस्था की जटिलताएं:

जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान जटिलताओं का अनुभव करती हैं, जैसे गर्भकालीन मधुमेह, प्रीक्लेम्पसिया, या समय से पहले प्रसव पीड़ा, उनमें मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं का अनुभव होने की संभावना अधिक होती है।

रिश्ते संबंधी मुद्दे:

गर्भावस्था रिश्तों पर तनाव डाल सकती है, और रिश्ते के मुद्दे मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों में योगदान दे सकते हैं।

तो, क्या गर्भावस्था के दौरान मानसिक स्वास्थ्य का बिगड़ना सामान्य है? उत्तर है, हाँ।

जहां कुछ महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान अपने मानसिक स्वास्थ्य में सुधार का अनुभव हो सकता है, वहीं अन्य को कई तरह की मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यह याद रखना आवश्यक है कि गर्भावस्था के दौरान मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दे आम हैं और इसे गंभीरता से लिया जाना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं के संकेतों और लक्षणों को पहचानना भी महत्वपूर्ण है।

इनमें शामिल हो सकते हैं:

· उदासी, निराशा, या मूल्यहीनता की भावनाएँ

· भूख या नींद के पैटर्न में बदलाव

भूख या नींद के पैटर्न में बदलाव!
भूख या नींद के पैटर्न में बदलाव!

· मुश्किल से ध्यान दे

· उन गतिविधियों में रुचि की हानि जिन्हें आप एक बार आनंदित करते थे

· अपराध या शर्म की भावना

· चिंता या पैनिक अटैक

· खुद को नुकसान पहुंचाने या आत्महत्या करने के विचार

यदि आप इनमें से किसी भी लक्षण का अनुभव कर रहे हैं, तो अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से बात करना आवश्यक है। आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता आपको गर्भावस्था के दौरान अपने मानसिक स्वास्थ्य का प्रबंधन करने के लिए आवश्यक सहायता और संसाधन प्रदान कर सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

App download animated image Get the free App now