Create
Notifications

नसों की कमजोरी कैसे दूर करें- Naso Ki Kamzori kaise dur kare

नसों की कमजोरी कैसे दूर करें Image: freepik
नसों की कमजोरी कैसे दूर करें Image: freepik
Ritu Raj
ANALYST

हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग हमारी नसें होती हैं, जो हमारे शरीर में रक्त संचारित करती रहती हैं। शरीर में नसों का काम खून को दिल तक पहुंचाना है जिससे हमें ऑक्सीजन मिलता है और हम सांस ले पाते हैं। लेकिन कई बार कुछ कारणों से ये कमजोर पड़ जाती हैं जिसकी वजह से हमें कई शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ जाता है। कमजोर नसों को कई घरेलू उपायों से दूर किया जा सकता है।

नसों के कमजोर होने के कारण

नसों के कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं जिनमें नसों में किसी प्रकार की क्षति, नस विकृत होना, दर्द या सूजन से प्रभावित होना, नर्व सेल्स पर ट्यूमर का विकास, नसों पर विषाक्त पदार्थों का प्रभाव, नसों पर दबाव आदि शामिल हैं। कई घरेलू उपायों से इसे मजबूत बनाया जा सकता है और साथ ही व्यायाम कर भी नसों को मजबूत किया जा सकता है।

नसों को कैसे बनाए मजबूत

नसों की कमजोरी दूर करने के लिए फाइबर युक्त भोजन का अधिक सेवन करें। फाइबर पाचन तंत्र को सही ढंग से काम करने में मदद करता है। पाचन खराब होने से पेट पर जितना अधिक दबाव पड़ेगा, उससे नसों को रक्त प्रवाह के रुकावट के कारण नुकसान होगा। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे ओटमील, ब्राउन राइस, पत्तेदार सब्जियां, ब्रोकली, एवोकाडो, चियास, दालें आहार में शामिल करें। इसके साथ ही ब्रोकोली, स्ट्रॉबेरी, गोभी, अनानास, संतरे, सूखे मेवे, एवोकाडो, जैतून का तेल, कद्दू, आम, मछली आदि का सेवन करने से नसें मजबूत होती है।

सेंधा नमक से भी दूर होती है नसों की कमजोरी

नसों की कमजोरी से छुटकारा पाने के लिए सेंधा नमक का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। सेंधा नमक सूजन को कम करने और मांसपेशियों और नसों के बीच के संतुलन को अच्छा बनाने में मदद करता है। इसमें मैग्निशियम और सल्फेट होता है जो इसके गुणों का मुख्य स्रोत है। सेंधा नमक के पानी से नहाने से नसों और मांसपेशियों की कमजोरी दूर किया जा सकता है।

अश्वगंधा से भी दूर होगी कमजोरी

आयुर्वेद में में अश्वगंधा का काफी महत्व है, इसे कई बीमारियों को जड़ से खत्म करने में प्रयोग किया जाता है। अश्वगंधा का इस्तेमाल कर नसों की कमजोरी से छुटकारा पाया जा सकता है। ये हमारे शरीर को गर्मी, शक्ति और ताकत देता है जिससे नसों के काम करने की क्षमता में सुधार होता है। इसके पत्तों से ज्यादा इसके जड़ को आयुर्वेद में प्रयोग किया जाता है। एक चम्मच अश्वगंधा का पाउडर को एक गिलास दूध या पानी में मिलाकर रोज रात को सोने से पहले और सुबह उठने के बाद पिएं। एक महिने तक इसका सेवन करते रहे आपकी नसें फिर से मजबूत हो जाएंगी।


Edited by Ritu Raj
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now