Create

दांतों के बीच का गैप कैसे ठीक करें : Danto ke beech ka gap kaise theek kre

दांतों के बीच का गैप कैसे ठीक करें ( फोटो - Sportskeeda hindi )
दांतों के बीच का गैप कैसे ठीक करें ( फोटो - Sportskeeda hindi )

चेहरे की सुंदरता को लेकर लोग अक्सर कॉन्शियस रहते हैं। अपने चेहरे को सुंदर बनाने के लिए लोग अलग- अलग कॉस्मेटिक का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन अक्सर यह भूल जाते हैं कि उनके दांत (Teeth) भी चेहरे को खूबसूरत बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते है। दांतों का सुंदर दिखना भी उतना ही जरूरी होता है जितना चेहरे का। कई लोगों में देखा गया है कि दांतों के बीच गैप आ जाता है। जो उनके खूबसूरत चेहरे की बनावट को बिगाड़ देता है। दांतों के बीच गैप को डायस्टेमा कहा जाता है। डायस्टेमा होने के कई कारण हो सकते हैं, जिसमें से एक है जेनेटिक यानी अगर किसी की माता, पिता, दादा, दादी, नाना, नानी के दांतों के बीच गैप है, तो यह समस्या आगे आने वाले बच्चों में भी आ सकती है। इसके अलावा दांताें की असामान्य वृद्धि, मसूड़ाें के राेग भी इसका कारण हाे सकते हैं। आइए जानते हैं इस समस्या से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है-

दांतों के बीच का गैप कैसे करें ठीक

डेंटल इंप्रैशन किट ( Dental impression kit )

जिन लोगो के दांतो में गैप हो जाता है, उन्हें डेंटल इंप्रैशन किट की मदद से ठीक किया जा सकता है। इसके उपयाेग से सामने के दांताें में आए गैप काे कम करने में मदद मिल सकती है। डेंटल इंइंप्रैशन प्रेशन किट में 2 ट्रे सेट, पुट्टी और इसे इस्तेमाल करने के दिशा निर्देश दिए जाते हैं। आप इसे आसानी से घर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

ब्रेसेस (Braces)

ब्रेसिज की मदद से डायस्‍टेमा को ठीक किया जा सकता है। ब्रेसिज में एप्‍लीकेटर्स का इस्‍तेमाल होता है, जैसे ब्रेकेट्स, वायर्स और स्‍ट्रेंथ बैण्‍ड्स, जो दांतों को सही ढंग से बैठाने में मदद करते हैं। दांतो को सही स्थिति में नहीं आने तक धीरे-धीरे दबाव डाला जाता है। यदि रिटेनर हटाने के बाद भी दाँत हिलता रहे। तो कुछ मामलों में परमानेंट रिटेनर जरूरी हो सकता है।

मसूड़ों के रोगों को ठीक करना (Cure Gum diseases)

कई बार मसूड़ों के रोग के कारण भी दांतो में गैप की समस्या देखी गई है। इसके लिए डेंटिस्‍ट से संपर्क करके इस समस्या को उन्हें दिखाना चाहिए। क्योंकि वह सही उपचार करके इस परेशानी को ठीक कर सकते हैं। कई बार मसूड़ों में बैक्‍टीरिया (Bacteria) की समस्या हो जाती है, जिसे डेंटिस्‍ट एंटीबायोटिक्‍स की मदद से ठीक करने का प्रयास करते हैं और कई बार ओरल एंटीबायोटिक्‍स की मदद से कुल्ला करवाया जाता है, जिससे मसूड़े में पनप रहे बैक्टीरिया से छुटकारा पाया जा सकता है।

सर्जरी (Surgery)

सर्जरी के माध्यम से भी दांतो के बीच के गैप को भरा जा सकता है। इसके लिए डेंटिस्‍ट से संपर्क करना होगा। डायस्‍टेमा का इलाज हो सकता है, लेकिन अच्‍छी ओरल हाइजीन रखकर इसकी रोकथाम की जा सकती है। डेंटिस्‍ट (Dentist) को नियमित तौर पर दिखाने से डायस्‍टेमा के शुरूआती लक्षणों की पहचान की जा सकती है और स्‍वस्‍थ दांतों तथा मसूड़ों के लिये पर्याप्‍त सहायता लेने में मदद मिल सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Shilki
Be the first one to comment