7 दिनों में मानसिक रूप से कैसे सुधार करें?

How to improve mentally in 7 days?
7 दिनों में मानसिक रूप से कैसे सुधार करें?

अपनी मानसिक स्थिति में सुधार करना एक सतत प्रक्रिया है जिसके लिए समर्पण और प्रयास की आवश्यकता होती है। हालांकि, ऐसे कई काम हैं जो आप केवल सात दिनों में कर सकते हैं ताकि आपकी मानसिक सेहत में महत्वपूर्ण अंतर आ सके।

यहाँ कुछ रणनीतियाँ हैं जो आपको केवल एक सप्ताह में मानसिक रूप से सुधारने में मदद करेंगी।

सकारात्मक दृष्टिकोण से शुरुआत करें

आपकी मानसिक स्थिति आपके दृष्टिकोण से बहुत अधिक प्रभावित होती है। यदि आप प्रत्येक दिन सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ रहते हैं, तो आपके समग्र रूप से बेहतर दिन होने की संभावना अधिक होती है।

सकारात्मक दृष्टिकोण!
सकारात्मक दृष्टिकोण!

अपने जीवन में नकारात्मक चीजों पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय अच्छी चीजों पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें। आप अपने दिन की शुरुआत उन तीन चीजों को लिखकर कर सकते हैं जिनके लिए आप आभारी हैं, और पूरे दिन सकारात्मक दृष्टिकोण बनाए रखने के लिए सचेत प्रयास करें।

पर्याप्त नींद

नींद आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। नींद की कमी से चिंता, चिड़चिड़ापन और अवसाद हो सकता है। सुनिश्चित करें कि आप हर रात कम से कम 7-8 घंटे की नींद लें।

अगर आपको नींद आने में परेशानी हो रही है, तो एक शांत सोने का रूटीन बनाने की कोशिश करें, जैसे कि किताब पढ़ना या सोने से पहले गर्म पानी से नहाना।

व्यायाम करें

व्यायाम न केवल आपके शारीरिक स्वास्थ्य बल्कि आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। व्यायाम एंडोर्फिन जारी करता है, जो प्राकृतिक मूड-बूस्टर हैं।

youtube-cover

व्यायाम के लाभों को प्राप्त करने के लिए आपको जिम में घंटों बिताने की आवश्यकता नहीं है। ब्लॉक के चारों ओर थोड़ी देर चलने से भी आपको बेहतर महसूस करने में मदद मिल सकती है।

कुछ नया करने का प्रयास करें

कुछ नया करने की कोशिश करने से आपका आत्मविश्वास बढ़ सकता है और आपकी मानसिक भलाई में सुधार हो सकता है। यह कुछ बड़ा होना जरूरी नहीं है, जैसे स्काइडाइविंग या बंजी जंपिंग।

यह एक नई रेसिपी को आजमाने या काम करने के लिए एक अलग रास्ता अपनाने जितना आसान हो सकता है। महत्वपूर्ण बात यह है कि अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकलें और खुद को चुनौती दें।

स्क्रीन समय सीमित करें

स्क्रीन के सामने ज्यादा समय बिताना आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। सोशल मीडिया विशेष रूप से हानिकारक हो सकता है, क्योंकि यह अपर्याप्तता और एफओएमओ (गायब होने का डर) की भावनाओं को जन्म दे सकता है।

अपने स्क्रीन समय को सीमित करने की कोशिश करें, खासकर सोने से पहले। इसके बजाय, अपना खाली समय कुछ ऐसा करने में व्यतीत करें जो आपकी आत्मा को पोषित करे, जैसे कि किताब पढ़ना, शौक का अभ्यास करना या प्रियजनों के साथ समय बिताना।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

App download animated image Get the free App now